SPG Recruitment: SPG यानी स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप का हिस्सा बनने का सपना अधिकांश युवाओं का होता है. यह एक अच्छी तरह से प्रशिक्षित (SPG Recruitment) संगठन है, जो भारत के अति विशिष्ट व्यक्तियों को सुरक्षा प्रदान करता है. ये वीआईपी मौजूदा प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्री और उनके साथ रहने वाले परिवार के सदस्य होते हैं. इस संगठन (SPG) की स्थापाना 1988 में की गई थी.Also Read - Sarkari Jobs: केंद्रीय गृह मंत्रालय में अनुकंपा के आधार पर नौकरी के नियमों में बदलाव, आवेदक को अब नहीं होगी परेशानी

आइए हम आपको बताते हैं कि SPG का चयन (SPG Recruitment) कैसे होता है और किन प्रक्रियाओं से होकर गुजरना पड़ता है… Also Read - SSC 2022 Recruitment Update: 70 हजार खाली पदों को भरेगा SSC, इस साल दिसंबर से पहले होंगी 42 हजार भर्तियां

SPG Recruitment के लिए ऐसे होता है चयन Also Read - LIC AAO Recruitment 2022: एलआईसी अस‍िस्‍टेंट एडमिनिस्‍ट्रेटिव ऑफिसर (AAO) भर्ती नोटिफिकेशन जल्‍द होगा जारी, चेक करें Latest Update

किसी भी अन्य फोर्सेज की तरह SPG में सीधे भर्ती (SPG Recruitment) नहीं की जाती है. इसमें सीनियर और जूनियर अधिकारियों को भारतीय पुलिस सेवा (IPS), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF), सीमा सुरक्षा बल (BSF) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) से भर्ती किया जाता है. SPG के जवान हर साल ग्रुप में बदलते रहते हैं. कोई भी व्यक्ति एक वर्ष से अधिक समय तक सेवा नहीं करता है. इसके बाद उन्हें उनकी मूल इकाई में वापस भेज दिया जाता है. SPG में भर्ती के लिए गृह मंत्रालय द्वारा इन संगठनों को एक रिक्ति पदों की लिस्ट भेजी जाती है. इसके बाद लिस्ट को  पदानुक्रम इकाइयों को भेजी जाती है. इसके माध्यम से कई कर्मी SPG में विभिन्न पदों के लिए आवेदन करते हैं.

SPG Recruitment के लिए चयन प्रक्रिया

SSB की तरह चयन में पसर्नल इंटरव्यू, साइको और फिजिकल टेस्ट होता है. चयन प्रक्रिया का पहला चरण IG (इंस्पेक्टर जनरल), दो Deputy IG और दो Assistant IG रैंक के एक IPS अधिकारी द्वारा आयोजित एक व्यक्तिगत साक्षात्कार है. साक्षात्कार के बाद एक फिजिकल टेस्ट, एक लिखित परीक्षा और एक साइको इवैल्यूएशन आयोजित किया जाता है.

SPG Recruitment के लिए ट्रेनिंग 

उम्मीदवारों को तीन महीने के लिए प्रोबेशन पीरियड पर रखा जाता है जिसमें एक साप्ताहिक परीक्षा भी शामिल है. प्रोबेशन में फेल होने वालों को अगले बैच में एक और मौका दिया जाता है और अगर वे फिर भी इसे क्लियर नहीं कर पाते हैं तो उन्हें मूल यूनिट में वापस कर दिया जाता है. SPG सदस्यों को नियमित रूप से एक ड्यूटी से दूसरी ड्यूटी में घुमाया जाता है.

SPG के लिए होते हैं 4 ब्रांच 

SPG को मोटे तौर पर 4 कैटेगरी में वर्गीकृत किया गया है..

संचालन: यह वास्तविक तौर पर सुरक्षा प्रक्रिया को देखता है. संचालन शाखा में संचार विंग, परिवहन विंग और तकनीकी विंग जैसे घटक होते हैं.
ट्रेनिंग: यह श्रेणी कर्मियों को शारीरिक दक्षता, फायरिंग, तोड़फोड़ विरोधी जांच, संचार और अन्य परिचालन पहलुओं में प्रशिक्षण से संबंधित है.
खुफिया और यात्रा: यह खतरे के आकलन, कर्मियों से संबंधित आंतरिक खुफिया, कैरेक्टर और पूर्ववृत्त के सत्यापन और अन्य संबंधित नौकरियों से संबंधित है.
प्रशासन – यह श्रेणी कर्मियों, खरीद और अन्य संबंधित मामलों से संबंधित है.

SPG Recruitment के लिए योग्यता मानदंड

किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास होना चाहिए. इसके अलावा IPS, BSF,ITBP और CRPF के सेवारत सदस्य होना चाहिए.

SPG Recruitment के लिए आयुसीमा

उम्मीदवारों को भारत का नागरिक होना चाहिए. उम्मीदवार की आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए.

SPG Recruitment के लिए वेतन

SPG सदस्यों का भत्ता उनके मूल वेतन का 50% है. प्रशासनिक अनुभाग में सदस्यों को 25% की बढ़ोतरी मिलती है.