School College Reopening Latest News: शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) ने स्कूल को फिर से खोलने के लिए अनलॉक 5.0 (Unlock 5.0) के लिए गाइडलाइंस को लेकर ट्वीट किया है. भारत में कोविड -19 लॉकडाउन खत्म होने के बाद जारी निर्देश के अनुसार, स्कूल, कॉलेज और एजुकेशन संस्थान 15 अक्टूबर के बाद फिर से कंटेंनमेंट जोन में फिर से खोलने का विकल्प चुन सकते हैं. लेकिन सटीक तारीखें राज्य सरकारों के निर्णय के अनुसार होंगी. Also Read - JEE Main in Regional Language: रमेश पोखरियाल ने कहा- जेईई मेन की परीक्षा अब क्षेत्रीय भाषाओं में होगी आयोजित

स्कूलों और कोचिंग केंद्रों के लिए व्यक्तिगत राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारें स्कूलों या संस्थानों के प्रबंधन के साथ परामर्श करने के बाद निर्णय लेगी. उच्च शिक्षा विभाग, गृह मंत्रालय के परामर्श से कॉलेजों और अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों के खुलने के समय पर निर्णय करेगा. ज्यादातर माता-पिता अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार नहीं हैं, जब तक कि कोविड -19 का खतरा पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाता. उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों ने पहले ही राज्य-वार स्कूल को फिर से दिशानिर्देश जारी कर दिया है. Also Read - Unlock-5: VISA में मिली छूट, विदेश से कोई भी भारत आ सकता है, टूरिस्ट नहीं आ पाएंगे


स्कूलों और कोचिंग सेंटरों के लिए गाइडलाइंस

छात्रों को केवल अपने माता-पिता और अभिभावकों की लिखित सहमति के साथ स्कूल आने की अनुमति होगी. ऑनलाइन लर्निंग या डिस्टेंस मोड को अभी भी पसंद किया जाएगा और प्रोत्साहित किया जाएगा. छात्र यदि ऑनलाइन कक्षाओं को जारी रखना चाहते हैं, तो उन्हें अनुमति दी जा सकती है.

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को स्थानीय आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) SOP के आधार पर अपने स्वयं के SOP तैयार करने की आवश्यकता है.

स्कूल जो Unlock 5.0 के भाग के रूप में फिर से खोलने का निर्णय लेते हैं, उन्हें राज्य के शिक्षा विभागों द्वारा जारी SOP का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा.

कॉलेजों और उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए गाइडलाइंस

हायर एजुकेशन संस्थान केवल पीएचडी अनुसंधान के स्कॉलरों एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में पीजी छात्रों के लिए फिर से खोले जाएंगे जो निम्न आधार पर प्रयोगात्मक या प्रयोगशाला कार्य के लिए होगी:

केंद्र द्वारा वित्त पोषित HEI के लिए संस्था के प्रमुख को लैब / प्रायोगिक कार्यों की आवश्यकता पर स्वयं को संतुष्ट करना होगा.

अन्य राज्य, निजी विश्वविद्यालय आदि जैसे HEI केवल संबंधित राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों के निर्णय के अनुसार केवल प्रयोगशाला / प्रायोगिक कार्यों के लिए फिर से खोल सकते हैं.