नई दिल्ली: JEE Main और Neet की परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है और अब पूरे देश में इन परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग तेज होती जा रही है. इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने परीक्षाओं से संबंधित एक याचिका में बड़ा फैसला लिया. कोर्ट ने महाराष्ट्र इंजीनियरिंग परीक्षाओं को स्थगित करने से संबंधित दायर याचिका को खारिज कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमने पहले ही JEE और NEET की परीक्षाओं को आयोजित करने का आदेश दिया है फिर एक राज्य के लिए दूसरा आदेश कैसे दे सकते हैं. Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा, क्या महबूबा मुफ़्ती हमेशा के लिए हिरासत में हैं, किस आधार पर कैद हैं?

आपको बता दें कि इससे पहले कोर्ट ने 17 अगस्त 2020 को एक अहम फैसला सुनाते हुए NEET 2020 और JEE Mains 2020 की परीक्षाओं को आयोजित कराने का आदेश दिया था. आदेश जारी करते हुए जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच ने कहा था कि COVID-19 के बावजूद हमें आगे बढ़ना होगा और कोर्ट राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) के फैसले में हस्तक्षेप करके छात्रों के करियर को जोखिम में नहीं डाल सकता है. Also Read - सुप्रीम कोर्ट का सवाल- कब तक महबूबा मुफ्ती को नजरबंद रखना चाहती है केंद्र सरकार

आपको बता दें कि इस बीच देशभर मे नीट और जेईई परीक्षा को स्थगति करने की मांग तेज हो गई है. कई राजनीतिक पार्टियों के बड़े बड़े नेता परीक्षाओं को रोकने की मांग कर रहे हैं. बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने हाल ही में NEET और JEE को लेकर कहा था कि NEET की परीक्षाएं 13 सितंबर को आयोजित की जाएंगी. वहीं JEE की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच आयोजित होंगी. Also Read - CM अमरिंदर सिंह का बड़ा ऐलान, नए कृषि कानूनों को लेकर उच्चतम न्यायालय जाएगी पंजाब सरकार

बता दें कि COVID -19 महामारी के कारण स्थिति सामान्य होने तक JEE और NEET 2020 परीक्षा को स्थगित करने की मांग करने वाले 11 राज्यों के 11 छात्रों द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष एक याचिका दायर की गई थी. सितंबर में JEE और NEET प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के लिए राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) ने 3 जुलाई के नोटिस को खारिज करने की मांग की थी.