Tata Consultancy Services (TCS) Hire 40,000 Freshers: पूरी दुनिया में फैली कोरोना वायरस महामारी के बीच TCS (टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज) ने युवाओं के लिए एक उम्मीद की किरण जगाई है. टाटा ग्रुप की आईटी कंपनी टीसीएस ने 40,000 नए कर्मचारियों के कैंपस प्लेसमेंट का फैसला लिया है. साथ ही कंपनी ने इस साल अमेरिका में कैंपस प्लेसमेंट को दोगुना करते हुए करीब 2000 भर्तियां करने की योजना बनाई है. यह संख्या पिछले वित्त वर्ष की तुलना में दोगुना है. Also Read - रूस में कोरोना की वैक्सीन ‘Sputnik V’ बनकर तैयार, भारत सहित 20 देशों ने दिया 100 करोड़ डोज का ऑर्डर

बता दें कि कंपनी ने यह फैसला ऐसे वक्त में लिया है, जब वह आर्थिक संकट से गुजर रही है. टीसीएस के सीईओ राजेश गोपीनाथन ने पिछले सप्ताह कहा था कि कंपनी की ओर से निचले स्तर पर कुछ भर्तियां चुनिंदा तौर पर शुरू की जा सकती हैं. बता दें कोरोना संकट के दौरान कई लोगों अपनी नौकरियां खो चुके हैं. ऐसे में कॉलेज के बाद जॉब का सपना देख रहे युवाओं के लिए टीसीएस ने बड़ी राहत का संकेत दिया है. Also Read - School Opening latest News: शुरू होंगी परीक्षाएं और लगेंगी क्लासे, संसदीय समिति की बैठक में स्कूल खोलने पर ये बड़ा फैसला

कोरोना के कारण जून तिमाही में टीसीएस के राजस्व में भारी गिरावट आई थी. लेकिन इसके बावजूद कंपनी ने इस बार भी कैंपस से 40 हजार भर्तियां करने का फैसला किया है. हालांकि 9 जुलाई को खबर आई थी कि देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) को जून में समाप्त तिमाही में एकीकृत आधार पर 7,008 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ. यह साल भर पहले की इसी तिमाही से 13.8 प्रतिशत कम है. Also Read - स्कूल खोले जाने का फैसला अभी नहीं, सांसदों ने कहा- सभी छात्रों को लैपटॉप और मोबाइल देना संभव नहीं, जरूरतमंद को दिया जाए रेडियो

नए टैलेंट्स को हायर करने को लेकर टाइम्स ऑफ इंडिया ने टीसीएस ईवीपी और वैश्विक मानव संसाधन प्रमुख मिलिंद लक्कड़ के हवाले से लिखा, “नींव से शुरुआत करने की हमारी रणनीति में कोई बदलाव नहीं आया है. भारत में हम 40 हजार भर्तियां करेंगे. यह संख्या 35 हजार या 45 हजार भी हो सकती है. यह एक टेक्टिकल कॉल होगा. कंपनी को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में बिजनस पटरी पर लौटेगा.”

कंपनी अमेरिका में इंजीनियरों के अलावा 10 टॉप बिजनस स्कूलों से भी ग्रेजुएट्स को हायर कर रही है. टीसीएस अहम बिजनस रोल के लिए फ्रेशर के साथ-साथ अनुभवी पेशेवरों की भी भर्ती कर रही है. लक्कड़ ने कहा, लोकल डिलीवरी हमारे लिए नई नहीं है, हमें बस इसका स्केल बढ़ाना पड़ा है. कंपनी नें 2014 से 20 हजार से अधिक अमरीकियों को हायर किया है.

टीसीएस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक (एमडी) राजेश गोपीनाथन ने कहा, ‘महामारी का राजस्व पर प्रभाव उन तमाम तरीके से हुआ है, जिनकी हम तिमाही की शुरुआत में अनुमान लगा चुके थे. लाइफ साइंसेज और हेल्थकेयर को छोड़कर सभी वर्टिकल प्रभावित हुए हैं.

उन्होंने कहा, कंपनी का मानना है कि सबसे बुरा असर गुजर चुका है और अब वृद्धि की संभावनाओं पर गौर करना चाहिये. शुरुआती व्यवधान के बाद उपभोक्ता अब अपने परिचालन को स्थिर करने लगे हैं. कंपनी देख रही है कि कई उपभोक्ता डिजिटलीकरण पर ध्यान देने लगे हैं, इससे कंपनी के उत्पादों व सेवाओं की मांग देखी जा रही है.