Telangana Board 10th Exam 2020: तेलंगाना उच्च न्यायालय ने जून के पहले सप्ताह के बाद कक्षा 10वीं की परीक्षाओं को हरी झंडी दिखाने के साथ राज्य शिक्षा अधिकारियों ने शुक्रवार को परीक्षा शेड्यूल की घोषणा की. नए शेड्यूल के अनुसार परीक्षाएं 8 जून से 5 जुलाई के बीच होगी. शिक्षा मंत्री पी. सबिता इंद्रा रेड्डी ने घोषणा करते हुए कहा कि उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए सुझाव के अनुसार प्रत्येक पेपर के बाद दो दिनों का गैप होगा. परीक्षा सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.15 बजे तक होगी. Also Read - Telangana TSBSE Class 10 Exam Time Table: तेलंगाना बोर्ड ने जारी किया कक्षा 10वीं का टाइम टेबल, जानें पूरी डिटेल

सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए अदालत के सुझाव पर कार्रवाई करते हुए विभाग ने कहा कि 2,005 परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे. यह पहले निर्धारित किए गए 2,530 केंद्रों के अतिरिक्त होगा. मंत्री ने कहा कि प्रत्येक परीक्षा केंद्र को सैनिटाइज किया जाएगा और छात्रों को फेस मास्क प्रदान किए जाएंगे. परीक्षा केंद्रों में प्रवेश से पहले सभी उम्मीदवारों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. बुखार, सर्दी और खांसी से पीड़ित पाए गए उम्मीदवारों के लिए परीक्षा लिखने के लिए अलग कमरे उपलब्ध होंगे. परीक्षा हॉल में एक बेंच पर एक छात्र बैठेंगे. छात्रों को उनके संबंधित स्कूलों के माध्यम से परीक्षा केंद्रों के बारे में सूचित किया जाएगा. तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (TSRTC) छात्रों को उनके परीक्षा केंद्रों तक लाने के लिए विशेष बसों का संचालन भी करेगा.

सबिता इंद्र रेड्डी ने कहा कि परीक्षा केंद्रों पर अतिरिक्त 26,422 शिक्षकों की सेवाओं का इस्तेमाल पर्यवेक्षकों के रूप में किया जाएगा. उनके लिए मास्क और दस्ताने पहनना अनिवार्य होगा. उन्होंने छात्रों के माता-पिता से अपील की है कि वे यह सुनिश्चित करने के लिए उनका ध्यान रखें कि वे कोविड -19 से प्रभावित नहीं हैं. उच्च न्यायालय के सुझाव पर विभाग ने छात्रों और उनके माता-पिता के लिए एक हेल्पलाइन खोलने का निर्णय लिया है. सरकार ने जून के पहले सप्ताह के बाद परीक्षा की तैयारियों को आगे बढ़ाने की अनुमति देते हुए बुधवार को उच्च न्यायालय ने 3 जून को स्थिति की समीक्षा करने और अगले दिन अपनी रिपोर्ट अदालत में प्रस्तुत करने को कहा है. अगर तब तक कोविड -19 की स्थिति बिगड़ती है, तो सरकार को परीक्षा आयोजित नहीं करने के लिए कहा गया था.

एक खंडपीठ ने राज्य सरकार द्वारा दायर याचिका पर आदेश पारित किया. मार्च में अदालत द्वारा पारित अंतरिम आदेशों की समीक्षा करने और मई में संशोधित कार्यक्रम के अनुसार परीक्षा आयोजित करने की अनुमति मांगी. 20 मार्च को उच्च न्यायालय ने राज्य को कोविड -19 के प्रकोप के मद्देनजर 23 मार्च से 6 अप्रैल के लिए निर्धारित कक्षा 10वीं की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्देश दिया था. राज्य ने मूल समय सारिणी के अनुसार 22 मार्च से पहले पहली और दूसरी भाषाओं के तीन पत्रों के लिए परीक्षा आयोजित की थी. राज्य मंत्रिमंडल ने इस महीने की शुरुआत में मई के दौरान शेष पेपरों के लिए परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है. उन्होंने उच्च न्यायालय का रुख किया और शैक्षणिक कैलेंडर और 5.50 लाख छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए इसके लिए अनुमति मांगी.