UP B.Ed Online Counselling 2020 Latest News: यूपी बीएड 2020 में प्रवेश लेने के लिए लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow niversity) की तरफ से रजिस्ट्रेशन की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. रजिस्‍ट्रेशन का प्रोसेस आधिकारिक वेबसाइट lkouniv.ac.in पर शुरू हो गया है, प्रवेश परीक्षा में पास उम्मीदवार वेबसाइट पर जाकर एडमिशन प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं. LU चार चरणों में ऑनलाइन काउंसलिंग प्रक्रिया आयोजित करेगा.

UP B.Ed Online Counselling- Phase 1
UP B.Ed Rank 1 to 50000
पहले चरण की ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में उन उम्मीदवारों को जगह दी जाएगी जिनकी रैंकिंग 1 से लेकर 50,000 तक के बीच में होगी. रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में भाग लेने के लिए उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट lkouniv.ac.in पर जाना होगा. पहले चरण की ऑनलाइन काउंसिलिंग की प्रक्रिया 19 नवंबर से लेकर 23 नवंबर तक चलेगी. रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के दौरान ही उम्मीदवार को 5750 रुपये फीस के तौर पर जमा करने होंगे. इस फीस में 5000 रुपये एडवांस कालेज (UP B.Ed Online Counselling College allocation) की फीस होगी.

UP B.Ed Online Counselling- Phase 2
UP B.Ed Rank 50001 to 140000
दूसरे चरण की ऑनलाइन रजिस्ट्रेश का प्रॉसेस 24 नवंबर से शुरूहोगा जिसमें 50001से लेकर 140000 तक की रैंकिंग वाले उम्मीदवारों को बुलाया जाएगा. दूसरे चरण का पंजीकरण 29 नवंबर तक किया जाएगा.

UP B.Ed Online Counselling- Phase 3
UP B.Ed Rank- 140001 to 240000
यूपी बीएड ऑनलाइन काउंसिलिंग में कुल चार चरण होंगे. तीसरे चरण में बीए़ड प्रवेश परीक्षा में 140001 से लेकर 240000 रैंक वालें उम्मीदवारों को बुलाया जाएगा. पंजीकरण का तीसरा चरण 7 दिसंबर तक होगा.

UP B.Ed Online Counselling- Phase 4– अंतिम चरण में दो लाख 40 हजार से ऊपर वाले रैंक के उम्मीदवारों को जगह दी जाएगी. चौथा चरण 12 दिसंबर तक आयोजित किया जाएगा.

आपको बता दें कि 9 अगस्त को यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा प्रदेश के 73 जिलों के कुल 1089 केंद्रों पर आयोजित की गई थी. राज्य सरकार ने परीक्षा आयोजित कराने की जिम्मेदारी लविवि को दी थी. इस परीक्षा में करीब 83 फीसदी यानी लगभग 3.57 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसके माध्यम से बीएड के लगभग 2 लाख सीटों पर नामांकन लिया जाएगा.

इस साल ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के लिए 10 फीसद सीट आरक्षित रहेंगे. प्रवेश परीक्षा में कुल 4,31,904 अभ्यर्थी पंजीकृत थे. इसमें से 3,57,701 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए थे.