UP Board 10th 12th Result 2020: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ़ दिनेश शर्मा ने बताया कि बोर्ड परीक्षा-2020 की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का कार्य मंगलवार को पूरा हो गया. हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम जून के अंतिम सप्ताह में घोषित किए जाएंगे. डॉ़ शर्मा यहां अपने जारी बयान में बताया कि हाईस्कूल इंटर की परीक्षा में कुल 56 लाख 11 हजार 72 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए. इनमें हाईस्कूल के 30 लाख 24 हजार 632 व इंटर में 25 लाख 86 हजार 4 सौ 40 परीक्षार्थियों ने अपना पंजीकरण कराया है. हाईस्कूल परीक्षा में 1662334 बालक व 1362298 बालिकाएं तथा इंटरमीडिएट परीक्षा में 1464604 बालक व 1121836 बालिकाएं शामिल हुए. Also Read - UP Board Toppers:  बोर्ड एग्जाम में टॉप करने वाले छात्रों को योगी सरकार का गिफ्ट, 1 लाख रुपए-लैपटॉप और घर तक बनेगी पक्की सड़क

उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 की हाईस्कूल एवं इटरमीडिएट की परीक्षाएं एक साथ 18 फरवरी को शुरू हुईं. हाईस्कूल की परीक्षाएं 3 मार्च को 12 दिन में खत्म हुई थीं. इंटर की परीक्षाएं 6 मार्च को 15 दिन में समाप्त हुई थीं. 16 मार्च से मूल्यांकन शुरू हो गया था, लेकिन बीच में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 18 मार्च को मूल्यांकन स्थगित कर दिया गया. उन्होंने बताया कि छात्र-छात्राओं के हित में तथा शैक्षिक सत्र के नियमन ध्यान में रखते हुए सबसे 12 मई से ग्रीन जोन में मूल्यांकन शुरू किया गया था. Also Read - UP Board 10th and 12th Result 2020: उप मुख्यमंत्री ने जारी किया रिजल्ट, 10वीं में 83.31 और 12वीं में 74.63 फीसदी छात्रों ने मारी बाजी, ये रहे टॉपर

डॉ. शर्मा ने बताया कि 2020 की परीक्षा में हाईस्कूल की 1 करोड़ 80 लाख 9 हजार 863 तथा इंटर की 1 करोड़ 29 लाख 41 हजार 714 कुल मिलाकर 3 करोड़ 9 लाख 61 हजार 577 पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए 1,46,755 परीक्षकों की नियुक्ति की गई थी तथा कुल 281 मूल्यांकन केंद्र निर्धारित किए गए थे. Also Read - UP Board UPMSP 10th and 12th Toppers List: यूपी बोर्ड 10वीं में रिया जैन तो 12वीं अनुराग मलिक ने किया टॉप, देखें टॉपर्स डिटेल 

उन्होंने बताया कि 7784 परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण-पर्यवेक्षण प्रथम बार जनपद स्तर पर स्थापित कंट्रोलरूम से तथा राज्य स्तर पर शिक्षा निदेशालय, लखनऊ में स्थापित कंट्रोलरूम से वेबकास्टिंग के माध्यम से किया गया. फलस्वरूप शासन की अपेक्षानुसार परीक्षाएं पूर्णतया नकलविहीन संपन्न हुईं.