UP Board 10th, 12th Result 2021: कोरोना की वजह से रद्द हो चुकी यूपी बोर्ड (UP Board) की 10वीं और 12वीं परीक्षाओं के रिजल्ट (UP Board 10th, 12th Result 2021) का इंतजार है. यूपी बोर्ड (UP Board) जल्द से जल्द रिजल्ट (UP Board 10th, 12th Result 2021) जारी करने की कोशिश में है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बोर्ड रिजल्ट (UP Board 10th, 12th Result 2021) तैयार करने में जुटा हुआ है.Also Read - फांसी की सजा पाए कैदी ने हाईस्कूल परीक्षा फर्स्ट डिवीजन से की पास, 64% नंबर मिले

बोर्ड (UP Board) ने रिजल्ट (UP Board 10th, 12th Result 2021) तैयार करने के लिए 17 फॉर्मूला बनाया है. इसे राज्य सरकार ने स्वीकार भी कर लिया है. बोर्ड (UP Board) ने यह भी कहा है कि इस फॉर्मूले के आधार पर तैयार रिजल्ट से अगर कोई छात्र संतुष्ट नहीं होता है तो उसके पास कोरोना संकट खत्म होने के बाद फिजिकली परीक्षा देने का विकल्प होगा. ऐसे छात्र बाद में परीक्षा देकर अपना रिजल्ट (UP Board 10th, 12th Result 2021) बदलवा सकते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक इंटर यानी 12वीं के आर्ट्स, साइंस, कॉमर्स के साथ-साथ प्राइवेट और कॉरेसपॉन्डेंस छात्रों के मूल्यांकन के लिए दो अलग-अलग फॉर्मूला बनाए गए हैं. Also Read - UP Board Result 2022 Scrutiny: यूपी बोर्ड स्क्रूटनी के लिए इस तारीख तक करें आवेदन, जानें पूरी प्रक्र‍िया

इसी बारे में प्रदेश के माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा मंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) ने पिछले दिनों बताया था कि यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को प्रोन्नत करने के लिए पारदर्शी फार्मूला तय किया गया है. उन्होंने बताया कि इस बार इण्टरमीडिएट परीक्षाफल हाईस्कूल (UP Board 10th, 12th Result 2021) के 50 प्रतिशत अंक, कक्षा 11 की वार्षिक अथवा छ:माही परीक्षा के 40 प्रतिशत अंक तथा कक्षा 12 के प्री. बोर्ड के 10 प्रतिशत अंक के आधार पर घोषित किया जाएगा. Also Read - UP Board 12th Result 2022 Declared: 12वीं कक्षा के रिजल्ट का लिंक हुआ एक्टिव, ऐसे देख सकते हैं अपना स्कोर

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ने बताया कि इसी तरह हाईस्कूल (10वीं) के लिए कक्षा नौ की परीक्षा के 50 प्रतिशत अंक तथा कक्षा 10 की प्री बोर्ड परीक्षा के 50 प्रतिशत अंक के आधार पर परीक्षाफल (UP Board 10th, 12th Result 2021) घोषित किया जाएगा. उन्होंने बताया कि इण्टरमीडिएट के व्यक्तिगत अथवा संस्थागत, जिस किसी भी परीक्षार्थी के कक्षा 11 की दोनों परीक्षाओं, वार्षिक व अर्द्ध वार्षिक अथवा कक्षा 12 की प्री बोर्ड परीक्षा तथा हाईस्कूल के जिस किसी भी परीक्षार्थी के कक्षा नौ की वार्षिक परीक्षा अथवा कक्षा 10 की प्रीबोर्ड परीक्षा के अंक उपलब्ध नहीं होंगे, उन्हें बिना अंकों के सामान्य रूप से प्रोन्नत कर दिया जायेगा.

उन्होंने बताया कि 2021 की परीक्षा में पंजीकृत कुल परीक्षार्थियों की संख्या 56,04,628 है. हाईस्कूल परीक्षा में कुल 29,94,312 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं जिसमें संस्थागत परीक्षार्थी 29,74,487 तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थी 19,825 हैं. इण्टरमीडिएट परीक्षा में कुल 26,10,316 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं जिनमें संस्थागत परीक्षार्थी 25,17,658 तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थी 92,658 हैं.