UP Board Exam 2021 Date: यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 (UP Board Exam 2021) में परीक्षा के संचालन की निगरानी करने के लिए सामान्य दो के बजाय एक कमरे में सिर्फ एक ही इंविजिलेटर हो सकता है. एचटी के रिपोर्ट के अनुसार राज्य शिक्षा विभाग (UP Education Department) ने कहा कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि कोरोना की वजह से कम फीवर वाले उम्मीदवारों के लिए परीक्षा हॉल की संख्या बढ़ाई गई है और इंविजिलेटर के लिए शिक्षकों की कमी है.Also Read - UP Board 10th 12th Exam 2022 date: कब होंगी यूपी बोर्ड की प्री बोर्ड और बोर्ड की परीक्षाएं, उपमुख्यमंत्री ने दिया जवाब

उन्होंने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए परीक्षा केंद्र बनाने की प्रक्रिया में एक बड़ा बदलाव किया गया है और राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट (UP Board Intermediate Exam 2021) और हाई स्कूल परीक्षा (UP Board High School Exam 2021) -2021 केंद्र आवंटन नीति में विधिवत शामिल किया गया है. ऑफिशियल बताते हैं कि वर्ष 2021 में यूपी बोर्ड (UP Board) की परीक्षा में प्रत्येक केंद्र में न्यूनतम 150 छात्र और अधिकतम 800 छात्र होंगे. पिछले वर्षों में एक परीक्षा केंद्र में 1200 छात्र थे. इसी तरह, प्रत्येक छात्र को 20 वर्ग फुट के बजाय 36 वर्ग फुट जगह दी जाएगी. Also Read - UP Board Exam 2022 Date: टल सकती है 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा, जानें क्या है कारण, कब होगी परीक्षा

यूपी बोर्ड (UP Board) के मानकों के अनुसार एक कमरा 500 वर्ग फीट में अधिकतम 14 या 15 बच्चों के बैठने की व्यवस्था होगी. इस तरह सोशल डिस्टेंसिंग की अवधारणा का पालन करते हुए दो छात्रों के बीच पर्याप्त जगह होगी. इस प्रकार, 2020 में केंद्रों की संख्या 7,783 से बढ़कर 2021 में लगभग 14000 हो जाने की संभावना है. इसलिए, इतनी बड़ी संख्या में परीक्षा केंद्रों (UP Board Exam Centre) के लिए शिक्षकों की कमी हो सकती है. विशेष रूप से, हिंदी, अंग्रेजी, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान इत्यादि जैसे अनिवार्य और लोकप्रिय विषयों के लिए प्रति व्यक्ति दो इंविजिलेटरों के पुराने मानदंडों के अनुसार परीक्षा (UP Board Exam 2021) आयोजित करने के मामले में समस्या हो सकती है, जिसमें बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित होंगे. Also Read - UP Board 10th, 12th Result 2021: यूपी बोर्ड की इंप्रूवमेंट परीक्षा का रिजल्ट हुआ जारी, ऐसे देखें अपना रिजल्ट

इस बात को ध्यान में रखते हुए बोर्ड (UP Board) ने इस बार यह प्रावधान किया है कि अपरिहार्य परिस्थितियों / कोविड -19 महामारी को देखते हुए प्रत्येक कमरे में न्यूनतम दो पर्यवेक्षकों के नियम को छोड़ दिया है और यदि बोर्ड प्रति कमरा एक इंविजिलेटर तैनात करता है तो भी  पर्याप्त संख्या में शिक्षक उपलब्ध नहीं हैं. एचटी की रिपोर्ट के अनुसार यूपी बोर्ड (UP Board) के सचिव ने कहा,  “हम बोर्ड परीक्षा में दो छात्रों के बीच सुरक्षित सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड -19 महामारी के मद्देनजर निर्धारित सभी मानदंडों और प्रोटोकॉल का पालन करेंगे.”

इस बीच, जिला स्तर पर अधिकारियों ने बोर्ड परीक्षा (UP Board Exam 2021) केंद्रों की पहचान के लिए स्कूलों को फिजिकली सत्यापन की रिपोर्ट बोर्ड को भेज दी है. बोर्ड (UP Board) ने 26 दिसंबर तक रिपोर्ट मांगी थी. ऑफिशियल ने कहा कि बोर्ड 2021 परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्रों की सूची जारी करेगा, जिसमें छात्र आवंटन भी शामिल है. 11 जनवरी तक जिला स्तर पर इस सूची पर आपत्तियां 4 फरवरी तक अपडेट की जाएंगी. केंद्रों की अंतिम सूची 9 फरवरी तक जारी की जाएगी.