भुवनेश्वर: बुधवार को जारी होने वाले UPSC CDS II Exam 2017 के नतीजों में देबासिस सारंगी ने टॉप किया है. देबासिस सारंगी कट्टक जिला के निमाला क्षेत्र के रहने वाले हैं. देबासिस ने एयर फोर्स एकेडमी और इंडियन नवल एकेडमी में टॉप किया है, जबकि इंडियन मिलिट्री एकेडमी में दूसरा स्थान प्राप्त किया है. Also Read - UPSC Civil Services Prelims Notification 2020 Released: UPSC ने जारी किया Civil Services Prelims 2020 परीक्षा के लिए नोटिफिकेशन, ऐसे करें अप्लाई

देबासिस ने कहा कि हालांकि मैं एयर फोर्स चुनुंगा. लेकिन मुझे तीनों ही पसंद हैं. देबासिस ने इसी साल भुवनेश्वर के कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिकल में बीटेक पास किया है. सबसे खास बात यह है कि देबासिस ने पहले अटेम्प में ही CDS क्लीयर कर लिया. Also Read - CISF AC(EXE)LDCE 2020 Admit Card 2020: UPSC ने जारी किया CISF AC(EXE)LDCE 2020 का एडमिट कार्ड, जानें परीक्षा से जुड़ी खास बातें

देबासिस जब पूछा गया कि वह देश की रक्षा बलों को क्यों ज्वाइन करना चाहते हैं, तो देबासिस ने कहा कि इसे ज्वाइन ना करने का कोई कारण मुझे नजर नहीं आया. रक्षा बलों की नौकरी रोचक है, सम्मानजनक है और शानदार है. सर्वोत्तम संभव तरीके से आपको अपने देश की सेवा करने का मौका मिलता है. सैलरी भी अच्छी है. Also Read - दक्षिण भारत में सुखोई का पहला स्कवाड्रन तैनात, पाक से युद्ध के सवाल पर CDS ने दिया ये जवाब

CHSE Odisha Board 12th Result 2018: साइंस का रिजल्ट 19 मई कल, ऐसे चेक करें

देबासिस ने कहा कि पिछले तीन साल से वह CDS की तैयारी कर रहे थे. उन्होंने NDA के लिए चार बार कोशिश किया लेकिन सफलता नहीं मिल पाई. इसके बाद देबासिस ने CDS को अपना लक्ष्य बना लिया. रूटीन किताबों के साथ ही वह पर्सनालिटी डेवेपमेंट की किताबों को पढ़ते थे. खासतौर से मिलिट्री पर आधारित किताबे भी उन्होंने खूब पढ़ी हैं.

20 साल के देबासिस के पिता प्रफूल्ल सारंगी और मां सुचित्रा दास दोनों ही शिक्षक हैं. घर में कोई भी डिफेंस से जुड़ा नहीं है. यहां तक कि रिश्तेदारों में भी कोई रक्षा क्षेत्र में काम नहीं करता. तीन भाई बहनों में देबासिस सबसे बड़े हैं. उनका छोटा भाई BSc की पढ़ाई कर रहा है, वहीं बहन होमियोपैथी की पढ़ाई कर रही है.