UPSC Civil Services. संघ लोक सेवा आयोग यानी UPSC ने सिविल सेवा परीक्षा-2018 का अंतिम परिणाम जारी कर दिया है. देश की सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं में नौकरी के लिए ली गई इस परीक्षा में कुल 759 कैंडिडेट्स पास हुए हैं. आयोग के अनुसार आईआईटी बंबई (IIT Bombay) से बीटेक की पढ़ाई करने वाले कनिष्क कटारिया ने सिविल सेवा परीक्षा में देशभर में पहला स्थान हासिल किया है. वहीं, सृष्टि जयंत देशमुख महिला अभ्यर्थियों में शीर्ष पर रही हैं. आयोग द्वारा जारी सम्मिलित सूची में सृष्टि पांचवें स्थान पर रही हैं. आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट पर यूपीएससी परीक्षा के रिजल्ट जारी किए गए हैं. इस वेबसाइट के upsc.gov.in/sites/default/files/FR-CSME-2018-Engl.pdf लिंक पर क्लिक कर आप पूरा Result देख सकते हैं. Also Read - Sarkari Naukri: UPSC CDS I Recruitment 2021: UPSC में CDS I के लिए आवेदन करने की आज है आखिरी तारीख, जल्द करें अप्लाई

यूपीएससी ने शुक्रवार को सिविल सेवा की फाइनल परीक्षा के परिणाम घोषित किए. आयोग ने अपने एक बयान में बताया कि आईएएस, आईपीएस और आईएफएस आदि पदों पर नियुक्ति के लिए कुल 759 अभ्यर्थियों के नाम घोषित किए गए हैं. इनमें 577 पुरुष और 182 महिलाएं हैं. कटारिया अनुसूचित जाति से ताल्लुक रखते हैं और उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में गणित लिया था. उन्होंने कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया है. Also Read - Sarkari Naukri: UPSC Recruitment 2020: UPSC में इन विभिन्न पदों पर निकली वैकेंसी, जल्द करें अप्लाई

यहां देखें UPSC सिविल सेवा परीक्षा का रिजल्ट Also Read - UPSC CMS Result 2020 Declared: यूपीएससी ने जारी किया CMS 2020 का रिजल्ट, ऐसे चेक करें Merit List

राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल से बीई (केमिकल इंजीनियरिंग) की पढ़ाई करने वाली सृष्टि देशमुख महिला अभ्यर्थियों में शीर्ष पर हैं. आयोग के अनुसार, सिविल सेवाओं के लिए सितंबर-अक्टूबर 2018 में लिखित परीक्षा ली गई थी. इसके बाद फरवरी-मार्च 2019 में इस परीक्षा में सफल कैंडिडेट्स का इंटरव्यू हुआ था. इस परीक्षा में पास करने वाले छात्रों को भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) के अलावा भारत सरकार के ग्रुप A और ग्रुप B कैडर के अधिकारियों के रूप में भर्ती की जाएगी.