नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में आज 16 महिला नक्सली समेत 59 नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया. सुकमा के एसपी अभिषेक मीणा ने समाचार एजेंसी भाषा को फोन पर यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सुकमा जिले के एर्राबोर गांव में 59 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया. ये सभी एर्राबोर थाना के गगनपल्ली, मनिकोंटा, डब्बाकोंटा, मरईगुड़ा और बिरला गांव के निवासी हैं. Also Read - केंद्र के एग्रीकल्‍चर एक्‍ट को निष्‍प्रभावी करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने कृषि उपज मंडी संशोधन बिल 2020 पारित किया

Also Read - Chhattisgarh Corona Update: छत्तीसगढ़ में नहीं सुधर रहे हालात, 24 घंटे में कोरोना के 2958 नए मामले, 16 की मौत

पढ़ें- छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का बड़ा हमला, 9 जवान शहीद Also Read - नाकारी पुलिस: छत्तीसगढ़ में गैंग रेप पीड़िता के पिता ने की आत्महत्या की कोशिश तब जाकर दर्ज हुई FIR

एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि नक्सलियों ने माओवादियों की खोखली विचारधारा और उनके आतंक के खिलाफ आत्मसमर्पण करने का फैसला किया है. नक्सली राज्य शासन की आत्मसमर्पण नीति से भी प्रभावित हैं. उन्होंने कहा कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में से नौ के खिलाफ स्थाई वारंट भी है. एसपी ने बताया कि राज्य शासन की आत्मसमर्पण नीति के तहत इनकी मदद की जाएगी. राज्य के धुर नक्सल प्रभावित इस जिले में बड़ी संख्या में नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. बता दें कि सुकमा में नक्सलियों ने इसी महीने की 13 तारीख को बारूदी सुरंग विस्फोट कर ‘एंटी लैंडमाइन व्हीकल’ को उड़ा दिया था. इस घटना में नौ जवान शहीद हो गए थे तथा दो अन्य घायल हुए थे.

पेट्रोलिंग पार्टी पर हमले में गई थी 9 जवानों की जान

बता दें कि बीते 13 मार्च को नक्सलियों ने योजनाबद्ध तरीके से सुकमा जिले के किस्ताराम एरिया में आईईडी ब्लास्ट कर ‘एंटी लैंडमाइन व्हीकल’ को उड़ा दिया था. इसके बाद उन्होंने सीआरपीएफ की पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग भी की थी. उस समय सीआरपीएफ की 212 बटालियन की पेट्रोलिंग पार्टी के जवान किस्ताराम से पलोदी की ओर जा रहे थे. घटना में मौके पर ही 9 जवान शहीद हो गए थे. घटना के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नक्सलियों की करतूत पर क्षोभ व्यक्त करते हुए शहीद हुए जवानों के प्रति शोक संवेदना जताई थी. इससे पहले 28 मार्च को सुकमा जिले में ही पुलिस ने मुठभेड़ में एक महिला नक्सली को मार गिराया था. इस दौरान कई अन्य नक्सलियों के भी हताहत होने की सूचना पुलिस ने दी थी. पुलिस के अनुसार यह मुठभेड़ उस वक्त हुई जब गोगुंडा पहाड़ी इलाके में नक्सल विरोधी अभियान पर निकले पुलिस दल पर नक्सलियों ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी थी. पुलिस के जवानों ने तत्काल गोलीबारी का जवाब दिया, जिसमें महिला नक्सली मारी गई.

(इनपुट – भाषा)