नरहरपुर: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कांग्रेस पर आरोप लगाया कि 2003 से पहले छत्तीसगढ़ में सत्ता में बने रहने के लिए उसने नक्सलियों के साथ गठजोड़ किया था. शाह ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार माओवाद की समस्या को रोकने में सफल रही है. उन्होंने उग्रवाद प्रभावित कांकेर जिले के नरहरपुर में आदिवासी सभा को संबोधित करते हुए यह बात कही. Also Read - अमित शाह ने कहा- आखिर हम कैसे करें इमरान खान पर भरोसा

Also Read - सीट बंटवारे के लिए अमित शाह ने उद्धव ठाकरे को किया कॉल, शिवसेना प्रमुख ने रखी ये शर्त

विधानसभा चुनाव से पहले विभिन्न मुद्दों को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने विपक्षी पार्टी को चुनौती दी कि वह छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री रमन सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए विकास कार्यों और अपनी पार्टी के शासन के दौरान हुए विकास पर ‘‘खुली बहस’’ करे. चुनावी राज्य में ‘अटल विकास यात्रा’ के समापन पर इस सभा का आयोजन किया गया था. रमन सिंह के 15 साल के शासन की उपलब्धियों को रेखांकित करने के लिए यह यात्रा शुरू की गई थी. Also Read - जल्द से जल्द श्रीराम मंदिर बनाने को कटिबद्ध : अमित शाह

शाह ने कहा, ‘‘कभी छत्तीसगढ़ में गोलियों की आवाज गूंजा करती थी…मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि पिछली कांग्रेस सरकार (राज्य में 2003 में भाजपा के सत्ता में आने से पहले) ने सत्ता में बने रहने के लिए नक्सलियों से गठजोड़ किया था. उन्होंने कहा कि समूचा छत्तीसगढ़ क्रमिक रूप से नक्सलवाद से निजात पा रहा है और विकास के पथ पर बढ़ रहा है.

छत्तीसगढ़: विधानसभा चुनाव के लिए पहली बार 2 लाख से ज्यादा मतदाताओं ने भरा शपथपत्र

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि छत्तीसगढ़ का जब गठन हुआ तब इसे बीमारू राज्य कहा जाता था और शुरुआती तीन साल सत्ता में रहने के बावजूद कांग्रेस ने इसकी आर्थिक संवृद्धि के लिए कुछ नहीं किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने केंद्र में 55 साल सत्ता में रहन के बावजूद कानून व्यवस्था कायम रखने, नक्सलवाद को नियंत्रित करने, भूखमरी खत्म करने और वनों में रहने वालों का उत्थान करने के लिए कुछ नहीं किया. उन्होंने कहा , ‘‘अटलजी (पूर्व प्रधानमंत्री) ने छत्तीसगढ़ की स्थापना की और रमन सिंह ने राज्य का विकास किया.’’

अश्लील सीडी केस में पीसीसी चीफ की अरेस्ट के खिलाफ कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारी

शाह ने एक ‘सेक्स सीडी’ के प्रसार से पैदा हुए विवाद को लेकर कांग्रेस की आलोचना की. यह सीडी कथित तौर पर राज्य के लोक निर्माण विभाग मंत्री राजेश मूणत की है. मूणत ने सीडी के प्रसार के जरिए कथित तौर पर उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश करने को लेकर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख भूपेश बघेल के खिलाफ एक मामला दर्ज कराया है. शाह ने कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से पूछना चाहते हैं कि कांग्रेस का नेतृत्व कौन करेगा? क्या वे लोग करेंगे जिन्होंने चरित्र हनन करने के लिए बेशर्मी से फर्जी सीडी बनाई है. उन्होंने कहा, ‘‘क्या आप (राहुल गांधी) एक ऐसे नेता के साथ आगे बढ़ेंगे जो छत्तीसगढ़ में जनादेश मांगने के लिए फर्जी सीडी के जरिए चरित्र हनन करने में कथित तौर पर शामिल है.

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पर बरसे पीएम मोदी, कहा पहले 15 पैसे पहुंचते थे, अब 100 पैसे का काम होता है

शाह ने कहा, ‘‘हम कांग्रेस के साथ 55 साल के इसके शासन के दौरान किए गए विकास कार्यों और छत्तीसगढ़ में रमन सिंह सरकार के 15 वर्षों तथा नरेंद्र मोदी सरकार के पांच वर्षों में हुए विकास कार्यों पर खुली चर्चा के लिए तैयार हैं.’’ छत्तीसगढ़ में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होगा.