नई दिल्ली: कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में रुपए बांटे जाने और एक व्यक्ति के पास से ईवीएम बरामद किए जाने की घटनाओं का हवाला देते हुए मंगलवार को चुनाव आयोग का रुख किया और आरोप लगाया कि राज्य में कुछ लोगों की ओर से नतीजों को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है. पार्टी ने आयोग से यह भी आग्रह किया कि इन मामलों में उचित कदम उठाया जाए और ईवीएम के इस्तेमाल की तब तक समीक्षा की जाए जब तक चुनाव आयोग मामले की जांच करके किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंच जाता.Also Read - RJD Chief Lalu Yadav ने नीतीश कुमार को बताया अहंकारी और लालची, कांग्रेस के बारे में अब कही ऐसी बात

Also Read - UP Election 2022: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा वादा- 10 लाख तक का इलाज मुफ्त होगा

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: दूसरे चरण की वोटिंग शुरू, 72 सीटों पर 1079 प्रत्याशियों का होगा फैसला Also Read - समीर वानखेड़े ने मुंबई पुलिस कमिश्‍नर को लिखा पत्र, मुझे गलत उद्देश्यों से फंसाने के लिए कोई कानूनी कार्रवाई न की जाए

कांग्रेस के राज्य प्रभारी पीएल पुनिया की अगुवाई में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग का रुख उस वक्त किया है जब छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण में 72 विधानसभा सीटों पर मतदान चल रहा है. चुनाव आयोग को सौंपे ज्ञापन में कांग्रेस ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों में दो ऐसी घटनाएं हुई हैं जो चुनाव नतीजों पर असर डाल सकती हैं. पहली घटना सामरी विधानसभा क्षेत्र की है जहां भाजपा उम्मीदवार लोगों को पैसे बांट रहे हैं. इस घटना का वीडियो हम मुहैया करा रहे हैं.’

Assembly Elections 2018: मध्य प्रदेश में मौजूदा विधायक BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला, वीडियो वायरल

ज्ञापन के अनुसार कि ‘दूसरी घटना महेंद्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र के चिरमिरी इलाके की है जहां सरकारी हाईस्कूल प्रधानाध्यापक वेदप्रकाश मिश्रा के पास से पुलिस ने इवीएम बरामद की. इससे जुड़ा वीडियो भी हम मुहैया करा रहे हैं.’पार्टी ने दावा किया कि ये दोनों घटनाएं कुछ लोगों द्वारा चुनाव नतीजों को प्रभावित करने का प्रयास लगती हैं. कांग्रेस ने कहा कि इन मामलों में कार्रवाई के लिए तत्काल कदम उठाए.