रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा और आरएसएस पर निशाना साधते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि ‘उत्तेजक राष्ट्रवाद’ फैलाने वाली ताकतों के चेहरे से नकाब हटाना होगा और महात्मा गांधी के राष्ट्रवाद को अपनाने की जरूरत है. उन्होंने अपनी एक हफ्ते की ‘गांधी विचार यात्रा’ के समापन कार्यक्रम में कहा, ‘पूरी दुनिया में गांधी को याद किया जाता है कि आजादी के लिए उन्होंने जो रास्ता अपनाया वो अहिंसा का था. गांधी ने राम, गाय और तिरंगा को प्रतीक के तौर पर अपनाया. उन्होंने एक गंभीर राष्ट्रवाद की बात की.’

बघेल ने कहा, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के राष्ट्रवाद में समाज के हर वर्ग के लिए स्थान है. उनके राष्ट्रवाद में कमजोर से कमजोर व्यक्ति की असहमति का भी सम्मान है. गांधी का राष्ट्रवाद हमारे संत, महात्माओं, महान विचारकों, महावीर स्वामी, गौतम बुद्ध, गुरूनानक, कबीर, बाबा गुरू घासीदास जैसी विभूतियों के विचारों से प्रभावित है.” उन्होंने कहा, ‘हमारे नेताओं और महापुरुषों ने राम को जन-जन का राम बनाया. छत्तीसगढ़ की हर गलियों में राम हैं. गांधी के राम सबरी के राम और जन जन के राम हैं.’

इंदिरा गांधी और राजीव गांधी को भी चुनौती मिली थी, लेकिन राहुल के नेतृत्व को कभी चुनौती नहीं मिलीः भूपेश बघेल

भाजपा पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अगर इनसे सवाल पूछो तो ये घबरा जाते हैं और राष्ट्रवाद का प्रमाणपत्र बांटने लगते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘पूंजीवाद, सांप्रदायिकता और उत्तेजक राष्ट्रवाद को पहचानना होगा और इनके चेहरे से ये नकाब निकलकर फेंकना होगा.’ बघेल ने कहा कि जो आस्तिक है वो भी हिन्दू है और जो नास्तिक है वो भी हिन्दू है. हमारी धार्मिकता यह निडरता देती है. बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार महात्मा गांधी के बताए रास्ते पर चल रही है. राज्य सरकार ने किसानों का कर्ज माफ किया और किसानों को देश में सबसे अधिक 2500 रूपए प्रति क्विंटल धान का मूल्य दिया.

इससे पहले छत्तीसगढ़ के ऑटो एवं दूसरे क्षेत्रों में आए उछाल का उल्लेख करते हुए बघेल ने कहा कि देश में सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए केंद्र को किसानों एवं आम लोगों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के उनकी सरकार के मॉडल को राष्ट्रीय स्तर लागू करना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि देश भर में मंदी होने के बावजूद छत्तीसगढ़ में मंदी का कोई असर नहीं है, बल्कि तेजी से आर्थिक विकास हो रहा है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा बयान, कहा- कांग्रेस को आत्म अवलोकन की जरूरत

बघेल ने कुछ स्वतंत्र एजेंसियों की ओर से किए गए अध्ययनों का हवाला देते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘देश में मंदी का असर है लेकिन हमारे यहां नहीं है. इसकी वजह है कि हमने गरीबों और किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत किया है. पिछले कुछ महीनों में वाहनों की बिक्री 13 फीसदी बढ़ी है. गत दिसंबर से सर्राफा की बिक्री में 84 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.’ गत चार अक्टूबर को कंडेल से आरंभ हुई इस पदयात्रा में कृषि मंत्री रवीन्द्र चौबे, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम और कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए.

(इनपुट-भाषा)