रायपुर: आखिरकार विधानसभा चुनाव के परिणाम के पांचवें दिन छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान किया गया. बघेल राज्य के तीसरे सीएम होंगे. छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में रविवार दोपहर को हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भूपेश बघेल को नेता चुन लिया गया. इस दौरान एआईसीसी के छत्तीसगढ़ सचिव डॉ चंदन यादव और डॉ अरुण उरांव प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य और दुर्ग के लोकसभा सदस्य ताम्रध्वज साहू मौजूद रहे . ये सभी नेता दिल्ली से सुबह रायपुर पहंचे थे. विधायक की हुई बैठक में बघेल के नाम की घोषणा सर्वसम्मति से की गई. बघेल सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कार्यालाय राजीव भवन में विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री के लिए भूपेश बघेल के नाम का औपचारिक ऐलान किया. खड़गे ने कहा कि बघेल सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खड़गे ने कहा कि भूपेश बघेल को विधायक दल का नेता चुना गया है. सभी विधायकों ने एक स्वर में कहा है कि राहुल गांधी जिसे चुनेंगे, वही हमारा नेता होगा. सभी से चर्चा के बाद नाम पर सहमति बनी. हम सभी को विश्वास है भूपेश सबको साथ लेकर चलेंगे.

All India Congress Committee’s observer for Chhattisgarh, Mallikarjun Kharge: Oath ceremony will be held in Raipur tomorrow for only the Chhattisgarh Chief Minister. Decision on rest of the cabinet will be taken later pic.twitter.com/k2uy2UsCBi

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, छत्तीसगढ़ के पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस विधायक दल के नेता टीएस सिंहदेव दिल्ली से विशेष विमान से रायपुर पहुंचे और प्रदेश कार्यालय में विधायक दल की मीटिंग में शामिल हुए.

बघेल ने कहा कि कल यानी सोमवार 17 दिसंबर को भूपेश बघेल रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. खड़गे ने कहा कि कोई नेता बड़ा या छोटा नहीं होता, सभी बराबर होते हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि कल सिर्फ मुख्यमंत्री पद की शपथ ली जाएगी, बाकी के पदों के बारे में बैठक कर तय किए जाएगा.

रायपुर पहुंचे सभी नेता प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन रायपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल हुए और इस महत्वपूर्ण बैठक में छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की गई.

पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह और एआईसीसी के प्रवक्ता जयवीर शेरगिल शाम 4 बजे दिल्ली से रायपुर नियमित विमान सेवा से पहुंचेंगे और छत्तीसगढ़ की नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से शामिल होंगे.

खास बातें:
– विधानसभा चुनाव का रिजल्ट आने के 5 दिन बाद तय हुआ छत्तीसगढ़ का सीएम
– कांग्रेस ने 90 में से 68 सीटों पर जीत हासिल कर नया कीर्तिमान बनाया है
– बीजेपी की 15 साल पुरानी सरकार को हराने के बाद कांग्रेस को काफी वक्त लगा सीएम का नाम तय करने में
– रायपुर से दिल्ली तक छत्तीसगढ़ कांग्रेस के सीनियर नेताओं को दौड़ लगाना पड़ी
– सीएम के लिए नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, भूपेश बघेल, दुर्ग सांसद ताम्रध्वज साहू और चरणदास महंत को प्रमुख दावेदार रहे

– 23 अगस्त 1961 को जन्मे बघेल कुर्मी जाति से हैं
– भूपेश बघेल ने पॉलिटिक्‍स में अपनी पारी की शुरुआत यूथ कांग्रेस के साथ शुरू की थी
– दुर्ग जिले के निवासी भूपेश यहां यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बने

–  बघेल  1990 से 94 तक जिला युवक कांग्रेस कमेटी, दुर्ग (ग्रामीण) के अध्यक्ष रहे.
– भूपेश बघेल मध्यप्रदेश हाउसिंग बोर्ड के 1993 से 2001 तक निदेशक भी रहे हैं.
– 2000 में जब छत्तीसगढ़ अलग राज्य बना तो वह पाटन सीट से विधानसभा पहुंचे
– अजीत जोगी सरकार में बघेल कैबिनेट मंत्री भी रहे
– 2003 में कांग्रेस के सत्ता से बाहर होने पर भूपेश को विपक्ष का उपनेता बनाया गया
– अक्टूबर 2014 में बघेल छत्तीसगढ़ कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया और अभी तक इस पद पर हैं

विवादों में भी रहे
-2017 के अक्‍टूबर में वायरल हुए एक कथित सेक्स टेप में दिल्ली से एक पत्रकार की गिरफ्तारी हुई थी
– इस मामले में बीजेपी ने कांग्रेस नेताओं पर कथित सेक्स सीडी बांटने का आरोप लगाया था
– इस सीडी कांड में पत्रकार के साथ ही भूपेश बघेल के खिलाफ रायपुर में एफआईआर दर्ज हुई थी
– बाद में राज्य सरकार की तरफ से यह मामला सीबीआई को सौंप दिया था और जांच एजेंसी द्वारा बीजेपी और कांग्रेस नेताओं से पूछताछ की गई थी.
– अक्टूबर में ही भूपेश बघेल नए विवाद में पड़ गए थे
– बघेल एक सभा में बीजेपी पर निशाना साधते हुए लड़कियों के लिए आपत्तिजनक शब्द कह डाले थे
– बघेल की आपत्तिजनक बातों से मौजूद महिलाएं नाराज होकर कार्यक्रम से चली गईं थीं