रायपुर: छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में ई-अटेंडेंस के लिए दी गई टैबलेट्स में अश्लील तस्वीर दिखने का मामला सामने आया है. इसको लेकर कई सरकारी स्कूलों ने शिकायत की है कि शिक्षकों और छात्रों की बायो-मैट्रिक उपस्थिति दर्ज करने के लिए उपलब्ध कराए गए कम्प्यूटर टैबलेट की स्क्रीन पर अश्लील तस्वीरें दिखाई दे रही हैं. इस पर एक सरकारी अधिकारी ने समस्या को सुलझाने की बात कही है.

बता दें कि छत्तीसगढ़ के स्कूलों में शिक्षकों के अटेडेंस के लिए जब से कम्‍प्‍यूटर टैबलेट वितरण किया गया है तब से यह मशीन विवादों में रही है. विशेष रूप से दुर्ग, सरगुजा और बस्तर जिलों के स्कूलों के शिक्षकों ने शिकायत की है कि उपस्थिति दर्ज करने और स्कूल संबंधी क्रियाकलापों के संबंध में सूचनाएं अपडेट करने के लिए दिये गये टैबलेट की स्क्रीन पर अश्लील तस्वीरें दिख रही हैं. आईटी विभाग के परियेाजना प्रबंधक नीलेश सोनी ने कहा कि टैबलेट में इंटरनेट कनेक्शन है. इसलिए पहली नजर में ऐसा लगता है कि किसी ने कुछ एप्लीकेशन देखते या डाउनलोड करते वक्त अश्लील तस्वीरों वाले किसी स्पैम मैसेज पर क्लिक कर दिया होगा.

कार में खरोंच लग गई तो नाराज शिक्षकों ने छात्रों को डंडे से पीटा, कमरे में बंद कर दिया

ई-अटेंडेंस प्रक्रिया को तत्काल बन्द कर वापस मंगाए टैबलेट्स
शिक्षक नेताओं ने ई-अटेंडेंस प्रक्रिया को तत्काल बन्द कर सारे टैबलेट्स को वापस करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि विद्यालय के सरकारी टैबलेट्स में अश्लील तस्वीरों के दिखाई देने से सभी शिक्षकों को शर्मसार होना पड़ रहा है. कहा कि शिक्षिका बहनें जब अपनी हाजिरी दर्ज करने अंगूठा लगाने के लिए टैबलेट का उपयोग करती हैं तो स्क्रीन पर गन्दी तस्वीरें सामने आ रही हैं. यह अत्यंत शर्मनाक स्थिति है. अश्लील दृश्यों के आने का मतलब यह है कि टैबलेट्स सुरक्षित नहीं है. ऐसे में इसे वापस कर देना चाहिए. (इनपुट एजेंसी)