नई दिल्ली: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी और बीजेपी की पूर्व सांसद करुणा शुक्ला छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह के खिलाफ मैदान में उतर सकती हैं. रमन सिंह इस बार भी राजनांदगांव से चुनाव लड़ेंगे. कांग्रेस ने अटल की भतीजी को उनके खिलाफ उतारने का फैसला किया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सूत्रों ने कंफर्म किया कि राज्य की कांग्रेस स्क्रिनिंग कमेटी ने रमन सिंह के खिलाफ करुणा शुक्ला के नाम पर मुहर लगा दी है. कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव कमेटी अगर उनके नाम पर मुहर लगा देती है तो वह रमन सिंह के खिलाफ मैदान में उतरेंगी. Also Read - बिहार में बड़े उलटफेर की संभावना, दिल्ली की बैठक में होगा तय, Congress-LJP पर टिकी निगाहें

12 नवंबर को राज्य में होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए कांग्रेस ने 18 सीटों में से 12 सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं.मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से मैदान में कौन उतरेगा ये आज तय हो जाएगा. करुणा शुक्ला 14वीं लोकसभा के दौरान सांसद रह चुकी हैं. 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्हें कांग्रेस के चरणदास महंथ के हाथों पराजय झेलनी पड़ी थी. अटल बिहारी वापजेयी के सक्रिय राजनीति से दूर होते ही करुणा शुक्ला का कद घटा दिया गया. बाद में उन्होंने कांग्रेस जॉइंन कर लिया. Also Read - Hathras Gangrape Case: प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ का इस्तीफा मांगा

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव-2018 के प्रथम चरण में 18 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए कांग्रेस ने गुरुवार को 12 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी. कांग्रेस ने अंतागढ़ से अनूप नाग, भानुप्रतापपुर से मनोज सिंह मंडावी, कांकेर से शिशुपाल सोरी, केशकाल से संतराम नेताम, कोंडागांव से मोहनलाल मरकाम, नारायणपुर से चंदन कश्यप, बस्तर से लखेश्वर बघेल, जगदलपुर से रेखचंद जैन, चित्रकोट से दीपक कुमार बैज, बीजापुर से विक्रमशाह मंडावी, कोंटा से कवासी लखमा और दंतेवाड़ा से झीरम घाटी नक्सली हमले में शहीद हुए महेंद्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा को मौका दिया गया है. एआईसीसी की ओर से पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक के हस्ताक्षर से सूची जारी की गई है. Also Read - Bihar Assembly Election: सीट बंटवारे को लेकर RJD की कांग्रेस से अपील, हठधर्मिता छोड़ें