नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के बाद राजनीतिक दलों में गठबंधन होने की अटकलों के बीच कांग्रेस का कहना है कि उसे राज्य में सरकार बनाने के लिए किसी गठबंधन की जरुरत नहीं है. संवाददाताओं से बातचीत में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता टी एस सिंह देव ने कहा कि समर्थन के लिए दाएं या बाएं देखने की जरूरत नहीं है और उनकी पार्टी छत्तीसगढ़ में अपने दम पर सरकार बनाएगी.

नरेंद्र मोदी का रिकॉर्ड तोड़ने वाला मुख्यमंत्री, ‘गुडनाइट’ के कंधे से शुरू सफर को यूं मिला मुकाम

दाएं या बाएं देखने की जरुरत नहीं
उनकी इस टिप्पणी को इस लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि चुनाव के नतीजों की घोषणा से पहले ही राजनीतिक दलों के गठबंधन करने की खबरें आ रही हैं. बता दें कि छत्तीसगढ़ में 12 नवम्बर को 18 सीटों पर और 20 नवम्बर को 72 सीटों पर मतदान हुआ था. मतगणना 11 दिसम्बर को होगी. टी एस सिंह देव ने कहा, ‘मुझे जीत का भरोसा है. हमें स्पष्ट बहुमत मिलने जा रह है. हमें दाएं या बाएं देखने (समर्थन या चुनाव बाद गठबंधन के लिए) की जरूरत नहीं है.

दो चुनाव से छत्तीसगढ़ में घटा है अंतर, बीजेपी इन संभावनाओं पर भी कर रही है विचार

नतीजे बताएंगे
बहुमत ना मिलने पर सरकार बनाने के लिए छत्तीगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का समर्थन स्वीकार करने के सवाल पर सिंह देव ने कहा, भाजपा कार्यकाल के दौरान कुशासन कायम रहा. सभी सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार बढ़ा. किसान विशेष तौर पर काफी तनाव में हैं. यही वजह है कि बड़ी संख्या में लोग भाजपा के खिलाफ वोट देने के लिए निकले. और उन्हें पूर्ण बहुमत मिलने का पूरा भरोसा है. भाजपा के रमन सिंह पिछले 15 वर्ष से राज्य के मुख्यमंत्री हैं. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में इस बार 76.5 प्रतिशत मतदान हुआ है. अब ये तो फिलहाल 11 दिसम्बर को स्पष्ट होगा जब नतीजे आएंगे कि जनता किसके साथ है वो फिर से रमन सिंह को सत्ता की गद्दी पर आसीन कराएगी या सत्ता परिवर्तन होगा. (इनपुट एजेंसी)

चुनाव की विस्तृत खबरों के लिए पढ़ें