रायपुर/जशपुर: छत्तीसगढ़ के जशपुर इलाके में स्ट्रांग रूम के बाहर पहरा दे रहे एक कांग्रेस कार्यकर्ता की रविवार को मौत हो गई. ठंड लगने के चलते कार्यकर्ता की मौत के कयास लगाए जा रहे हैं. हालांकि  मौत के स्पष्ट कारण का अभी तक पता नहीं चल सका है. पार्टी पदाधिकारी ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस कार्यकर्ता पंकज कांग्रेस प्रत्याशी यू डी मिंज और उनके समर्थकों के साथ ईवीएम की रखवाली कर रहा था. कांग्रेस जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल ने पंकज की मौत की पुष्टि की है. Also Read - बिहार चुनाव: कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम की नसीहत- EVM को दोष देना बंद करें

Also Read - Bihar Assembly Election 2020: नहीं है वोटर आईडी, लेकिन मतदाता सूची में है नाम तो फिर कैसे डालें वोट... यहां जानिए

नरेंद्र मोदी का रिकॉर्ड तोड़ने वाला मुख्यमंत्री, ‘गुडनाइट’ के कंधे से शुरू सफर को यूं मिला मुकाम Also Read - पूर्व सीएम कमलनाथ की मांग- मध्य प्रदेश में EVM की बजाय मतपत्र से हो उपचुनाव, कोरोना को बताया वजह

पोस्ट मार्टम रिपोर्ट का इन्तजार

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दूसरे और अंतिम चरण का मतदान खत्म होने के बाद शहर से 4 किमी दूर राष्ट्रीय राजमार्ग 43 पर स्थित शासकीय मॉडल हाई सेकेंडरी स्कूल को स्ट्रांग रूम बनाया गया है. इसी के बाहर कांग्रेस के अन्य कार्यकर्ताओं के साथ कलिबा निवासी पंकज मिंज भी पहरेदारी कर रहा था. शनिवार को उसकी तबियत अचानक बिगड़ने लगी उसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ता उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे. जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया. प्रथम दृष्टया ठंड लगना मौत की वजह बताया जा रहा है. फिलहाल उसके शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेजा गया है. रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा.

…जब EVM पर नारियल फोड़ अगरबत्ती दिखाने लगे छत्तीसगढ़ के मंत्री

ईवीएम से छेड़खानी की अाशंका

कांग्रेस सहित विभिन्न राजनीतिक दलों ने ईवीएम से छेड़खानी होने की अाशंका जताई है जिसके चलते पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने गुरुवार को कार्यकर्ताओं को स्ट्रांग रूम के बाहर ईवीएम की निगरानी करने के निर्देश दिए थे. इन निर्देशों के अनुपालन में विभिन्न स्थानों पर कार्यकर्ता और प्रत्याशी स्ट्रांग रूम के बाहर बैठे रखवाली कर रहे हैं. 11 दिसंबर को राज्य में मतगणना की जाएगी. कांग्रेस जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल ने बताया कि कांग्रेस कार्यकर्ता पंकज कुनकुरी के कलीबा गांव का रहने वाला था. शनिवार दोपहर करीब दो बजे अचानक उसकी तबियत बिगड़ गई और उसे जिला अस्पताल जशपुर लाया गया. यहां डॉक्टरों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए अम्बिकापुर रेफर कर दिया. उपचार के दौरान युवक की रविवार तड़के करीब तीन बजे मौत हो गई. (इनपुट एजेंसी)