नई दिल्‍ली: छत्‍तीसगढ़ में 5 दुर्दांत नक्‍सलियों ने पुलिस के सामने आत्‍म-समर्पण किया है. इन नक्‍सलियों में दो ऐसे हैं, जिनके ऊपर पांच-पांच लाख रुपए का इनाम है. छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित जिले सुकमा में एसपी सलभ सिन्‍हा, एएसपी सिद्धार्थ तिवारी और सीआरपीएफ अफसरों के सामने सरेंडर किया है. Also Read - Pulwama Attack: पुलवामा में CRPF के काफिले पर फिर से IED ब्लास्ट कर आतंकियों ने किया हमला, सर्च ऑपरेशन जारी

पुलिस ने बताया कि पांच नक्‍सलियों में दो ऐसे हैं, जिनके ऊपर 5-5 लाख रुपए का इनाम घोषित है. सुकमा में पुलिस के अधिकारियों के सामने आत्‍मसमर्पण करने वाले नक्‍सलियों में एक महिला भी शामिल है. Also Read - 'सत्ताधारियों और अपराधियों' की मिलीभगत का खामियाजा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ रहा है' : अखिलेश यादव

नक्सलियों को हथियार पहुंचाने के आरोप में चार लोग गिरफ्तार
बीते 4 जून को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले की पुलिस ने नक्सलियों को हथियार, कारतूस और विस्फोट मुहैया कराने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया था. नक्सलियों को हथियार और विस्फोटक समेत अन्य सामान पहुंचाने के आरोप में पुलिस ने धमतरी जिला निवासी मनोज शर्मा, बालोद जिला निवासी हरिशंकर गेडाम और कांकेर जिले के दुर्गकोंदल निवासी गणेश कुंजाम एवं आत्माराम नरेटी को गिरफ्तार किया गया था.

303 राइफलें, एके 47, एसएलआर और इंसास राइफल की 695 गोलियां बरामद हुुुुई थी  
एक सूचना के आधार पर पुलिस ने चार जून को माओवादियों के लिए गोला-बारूद और अन्य सामग्री की आपूर्ति के संबंध में मनोज शर्मा और हरिशंकर गेडाम को सुकमा के मलकानगिरी चौक से गिरफ्तार किया था. पुलिस ने उनके पास से .303 राइफलें और कारतूस बरामद किए थे. जब शर्मा और गेडाम से पूछताछ की गई, तो उन्होंने बताया कि कुंजाम और नरेटी ने उन्हें यह काम करने के लिए कहा था. दोनों ने पुलिस को बताया था कि कुंजाम और नरेटी का सम्पर्क कांकेर के बड़े नक्सली नेता दर्शन पेद्दा से है, जो प्रतापपुर एरिया कमेटी का सचिव है. बाद में सुकमा जिले की पुलिस ने कांकेर पुलिस की मदद से शनिवार को कुंजाम और नरेटी को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने उनके पास से इंसास राइफल और कारतूस बरामद की थी. पुलिस ने शर्मा और गेडाम के कब्जे से धमतरी में रखा कारतूस भी बरामद किया है. पुलिस ने उनके पास से .303 राइफलें, एके 47, एसएलआर और इंसास राइफल की 695 गोलियां बरामद की थी.