नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पर हुई लंबी बैठक के बाद शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के चयन का फैसला उन पर ही छोड़ दिया गया. सूत्रों के मुताबिक नए मुख्यमंत्री की घोषणा देर रात अथवा शनिवार को रायपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हो सकती है.

गांधी के आवास ‘12 तुगलक लेन’ पर तीन घंटे की बैठक के बाद मुख्यमंत्री की घोषणा नहीं की गई. हालांकि पहले इस तरह की खबरें थीं कि यह घोषणा बैठक के बाद कर दी जाएगी.

इस बैठक में छत्तीसगढ़ के लिए पर्यवेक्षक मल्लिर्काजुन खड़गे, पार्टी के राज्य प्रभारी पी एल पुनिया और मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल माने जा रहे चार प्रमुख नेता- टी एस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू, भूपेश बघेल और चरणदास महंत शामिल हुए.

Chhattisgarh Assembly Elections 2018: टीएस सिंहदेव ने तोड़ा नेता प्रतिपक्ष के नहीं जीतने का मिथक, लेकिन स्पीकर फिर हार गए

बैठक में शामिल रहे एक नेता ने बताया, ‘‘बैठक में शामिल सभी नेताओं ने मुख्यमंत्री का फैसला राहुल गांधी जी पर छोड़ दिया. वह जो भी निर्णय लेंगे, वह सबको स्वीकार्य होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उम्मीद है कि मुख्यमंत्री की घोषणा शुक्रवार देर रात या फिर शनिवार को विधायक दल की बैठक में कर दी जाए.’’

छत्तीसगढ़ : नए सीएम की घोषणा अभी नहीं हुई, लेकिन किसानों की कर्ज माफी की तैयारियां शुरू

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 90 सदस्यीय विधानसभा में 68 सीटें हासिल हुई हैं. लेकिन नतीजे आने के करीब 72 घंटे बाद भी राज्य के नए मुख्यमंत्री की घोषणा नहीं की गई है. छत्तीसगढ़ के अलावा कांग्रेस पार्टी राजस्थान और मध्यप्रदेश में भी भाजपा को अपदस्थ कर सत्ता में आई है. राजस्थान में अशोक गहलोत और मध्यप्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री चुना गया है.