नई दिल्‍ली/ बि‍लासपुर: छत्‍तीसगढ़ के पूर्व मुख्‍यमंत्री अजीत जोगी के विधायक बेटे अमित जोगी को पुलिस ने बिलासपुर से उनके निवास से गिरफ्तार कर लिया है.   पुलिस ने चुनाव के दौरान अपने जन्म स्थान के बारे में गलत जानकारी देने के आरोप में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे एवं पूर्व विधायक अमित जोगी को गिरफ्तार किया गया है. बिलासपुर जिले के पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने मंगलवार को शहर के मरवाही सदन से अमित जोगी को गिरफ्तार किया. एसपी अग्रवाल ने कहा कि छह महीने तक जांच के बाद मंगलवार को अमित जोगी को गिरफ्तार किया गया.

जन्म स्थान के बारे में गलत जानकारी दी थी
एसपी  अग्रवाल ने बताया कि अमित जोगी पर आरोप है कि उन्होंने वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग को अपने जन्म स्थान के बारे में गलत जानकारी दी थी. एसपी ने बताया कि इस वर्ष फरवरी महीने में बीजेपी की ओर से मरवाही विधानसभा सीट से प्रत्याशी रही समीरा पैकरा ने जिले के गौरेला थाना में अमित जोगी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था.

अमित जोगी का जन्म स्थान अमेरिका में
समीरा का आरोप है कि अमित जोगी का जन्म स्थान अमेरिका में है. जबकि उन्होंने वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान अपने शपथपत्र में जन्म स्थान गौरेला क्षेत्र का सारबहरा गांव बताया था. पैकरा ने आरोप लगाया कि जोगी ने गलत तरीके से सारबहरा गांव में जन्म होने का प्रमाण पत्र प्राप्त किया. बता दें कि अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी को जब कांग्रेस से निष्कासित किया गया था तब जोगी ने नई पार्टी का गठन कर लिया था.

बीजेपी उम्‍मीदवार ने दायर की थी याचिका
वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद मरवाही विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की प्रत्याशी रही समीरा पैकरा ने जोगी की जाति और उनके जन्म स्थान के संबंध में हाईकोर्ट में चुनाव याचिका दायर की थी. उच्च न्यायालय ने इस वर्ष जनवरी में छत्तीसगढ़ की तत्कालीन विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने का हवाला देते हुए याचिका खारिज दी थी. बीते सोमवार को समीरा और मरवाही के लोगों ने बिलासपुर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय के सामने जोगी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया था.

जोगी के खिलाफ फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामले में एफआरआई दर्ज हुई थी
बता दें कि बीते 29 अगस्‍त को देर रात जिला प्रशासन ने पूर्व मुख्‍यमंत्री जोगी के खिलाफ फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले में एफआरआई दर्ज कराई थी. बिलासपुर जिले के एसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया था कि शहर के सिविल लाइन्स थाने में गुरुवार देर रात जोगी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. एसपी के मुताबिक, बिलासपुर कलेक्टर की ओर से तहसीलदार टी आर भारद्वाज ने जोगी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था.

प‍िता के ख‍िलाफ  इन धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ केस 
जिला प्रशासन ने पुलिस को जोगी के खिलाफ छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछडा वर्ग (सामाजिक स्थिति के प्रमाणीकरण का विनियमन) अधिनियम 2013 की धारा 10 (1) के तहत मामला दर्ज करने को कहा था. इसके बाद जोगी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया.

अमित जोगी ने थाने में पहुंचकर कहा था मुझ लॉक-अप में डाल दीज‍िए
इस घटनाक्रम के बाद अजीत जोगी के विधायक बेटे अमित जोगी बिलासपुर के सिविल लाइंस थाने पहुंचे थे और थाना प्रभारी से कहा था कि जब रात के अंधेरे में जब मेरे पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर चुके हैं, तो दिन के उजाले में मेरे खिलाफ भी वैसी ही एफआईआर दर्ज करिए. मेरा जाति प्रमाण पत्र निरस्‍त कीजिए और मुझे लॉक अप में डाल दीजिए, क्‍योंकि पूरे विश्‍व में केवल भूपेश राज में ही बेटे की जाति बाप से अलग हो सकती है.  (इनपुट-एजेंसी)