महासमुंद. पुलिस ने मंगलवार को एक लक्जरी कार की सीट में बनाए गए लॉकर से 10 करोड़ 90 लाख की रकम के साथ 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें 3 पुरुष व एक महिला शामिल हैं. पुलिस का मानना है कि जिस तरीके से इतनी बड़ी राशि ले जाई जा रही थी, आशंका है कि इससे पहले भी रकम इधर से उधर की गई होगी. फिलहाल पुलिस धारा 102 के तहत राशि को इनकम टैक्स के हवाले कर पूछताछ कर रही है.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महासमुंद वेदव्रत सिरमौर ने बताया कि वाहन चेकिंग के दौरान कटक से आगरा की ओर जा रही लग्जरी गाड़ी को रोका गया. तलाशी के दौरान 10 करोड़ 90 लाख रुपए बरामद हुए हैं. इसके संबंध में कोई भी संदिग्ध व्यक्ति कागजात प्रस्तुत नहीं कर सका. कार की सीट के पीछे राशि छिपाए जाने की तकनीक से हमें आश्चर्य हुआ. चारों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. बताया गया कि ओडिशा प्रांत के कटक से कार में सवार होकर देवरी थाना ताजगंज जिला आगरा निवासी बनवारी जाट (वाहन चालक) (40 वर्ष), आगरा निवासी प्रहलाद (30 वर्ष), मोहम्मद इब्राहिम (45वर्ष) और नजमा इब्राहिम (35 वर्ष) कटक से आगरा जा रहे थे. मंगलवार सुबह खल्लारी पुलिस की टीम ने संदेह के आधार पर उक्त वाहन रोककर तलाशी ली. तलाशी के दौरान वाहन के पीछे वाली सीट में चेंबर बनाकर 10 करोड़ 90 लाख रुपये 2 हजार, 5 सौ, 2 सौ और 100 के नोट में रखे हुए थे.

पुलिस की टीम ने चारों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. पूछताछ के दौरान संदिग्धों ने बताया कि उन्हें चांदी व्यापारी आगरा निवासी अवधेश अग्रवाल ने ओडिशा के कटक में राशि के लिए भेजा था. कटक पहुंचने पर एक व्यक्ति जो स्कूटी में सवार था उसने एक फार्म हाऊस में उन्हें यह राशि सौंपी जो लेकर वे वापस आगरा जा रहे थे. पुलिस के समक्ष वाहन सवार इस भारी रकम से संबंधित कोई वैध कागजात प्रस्तुत नहीं कर पाए जिसके बाद पुलिस ने इसकी सूचना इन्कम टैक्स विभाग को दी जिसके बाद आयकर अधिकारी मौके पर पहुंचे. इतनी भारी रकम इधर से उधर किए जाने को लेकर पुलिस को आशंका है कि जिस तरह से रकम ले जाई जा रही थी प्रतीत होता है कि इससे पहले भी रकम इधर से उधर की गई होगी.

(इनपुट – एजेंसी)