पत्थलगांव: छत्तीसगढ़ में पत्थलगांव वन परिक्षेत्र के पाकर गांव के पास छिंदबहरी जंगल में शनिवार सुबह एक युवक को हाथी के साथ सेल्फी लेने के शौक की कीमत जान देकर चुकानी पड़ी. जंगली हाथी ने कुचलकर युवक की जान ले ली.

छिंदबहरी जंगल के पास रहने वाले ग्रामीणों के मुताबिक, जंगल में हाथियों के आने की खबर मिलते ही बड़ी संख्या में लोग देखने पहुंचे. उनमें हाथियों की फोटो लेने की होड़ मची थी. कुछ लोगों ने दूर से सेल्फी लेने से भी परहेज नहीं किया. वहां मौजूद वनकर्मियों के लाख समझाने के बावजूद लोग हाथियों के पास जाकर फोटो लेते रहे. इसी दौरान एक युवक हाथियों के पास खड़े होकर सेल्फी लेने लगा. तभी एक हाथी ने युवक को धक्का देकर गिरा दिया और पैर से उसे कुचल दिया.

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पर बरसे पीएम मोदी, कहा पहले 15 पैसे पहुंचते थे, अब 100 पैसे का काम होता है

पत्थलगांव वन परिक्षेत्र अधिकारी के.एस. पैकरा ने बताया कि उन्हें वनकर्मियों से पता चला कि एक जंगली हाथी ने चौराआमा निवासी राम साय के बेटे जीवन कुजूर को कुचल दिया. जीवन का अंत तुरंत हो गया. उन्होंने बताया कि युवक के परिजनों को 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी. वन्य प्राणी दुर्घटना मुआवजा प्रकरण बनाने के निर्देश दे दिए गए हैं. इसकी राशि भी जल्द उनके घर वालों को शासन की ओर से मिल जाएगी.

छत्तीसगढ़ का सेक्स सीडी कांड: कोर्ट में पेश हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को जज ने भेजा जेल

वहीं, वन विभाग के एसडीओ आर.आर. पैकरा ने बताया कि गजदल शुक्रवार को कुनकुरी में था. इस दल में कुल 9 हाथी हैं. यह दल शनिवार की सुबह ही यहां पहुंचा है. इस दल के हाथियों में पूर्व से ही कॉलर आईडी लगा हुआ है. इन हाथियों की लोकेशन की खबर सेटेलाइट के जरिए हर तीन घंटे में अपडेट की जाती है. इस दल का नाम गौतमी दल है. हाथियों के बारे में ताजा जानकारी देकर गांव वालों को सतर्क कर दिया जाता है. फिर भी कोई जंगली हाथियों के साथ सेल्फी लेने लगे तो क्या किया जाए.