रायपुर: छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में हार के बाद आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश संयोजक संकेत ठाकुर ने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दिया है. गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली. यहां तक कि चुनाव नतीजों में आप के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कोमल हुपेंडी अपनी विधानसभा सीट पर तीसरे नंबर पर रहे. इस विधानसभा सीट पर कांग्रेस के मनोज सिंह मंडावी ने भाजपा के देवलाल दुग्गा को हराकर जीत दर्ज की.

अशोक गहलोत तीसरी बार बने राजस्थान के सीएम, डिप्टी सीएम के तौर पर सचिन पायलट ने भी ली शपथ

भाजपा विरोधी लहर खड़ी करने में भूमिका !
आप नेता संकेत ठाकुर ने कहा कि उन्होंने आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ की विधानसभा चुनाव में पराजय की जिम्मेदारी स्वीकारते हुए प्रदेश संयोजक पद से इस्तीफा दे दिया है. राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक में उन्होंने समस्त साथियों को इस तथ्य से अवगत करा दिया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस लहर के बावजूद आप पर 1 लाख 25 हजार मतदाताओं ने वोट देकर भरोसा दिखाया है. इन 5 वर्षों में हमने भाजपा सरकार विरोधी लहर खड़ी करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री होंगे भूपेश बघेल, सोमवार को लेंगे पद की शपथ

उन्होंने कहा कि सोनी सोरी की अगुवाई में 2014-15 से बस्तर में आदिवासियों पर फर्जी मुठभेड़, यौन प्रताड़ना के खिलाफ हमने सबसे पहले आवाज उठाई. 2016 में चिटफंड कंपनियों के खिलाफ सबसे बड़ा आंदोलन हमने खड़ा किया. संकेत ठाकुर ने कहा कि चुनाव के दौरान सबसे बड़ी कमी कार्यकर्ताओं की रही. कैडर खड़ा करना सबसे बड़ा लक्ष्य होना चाहिए. इसलिए वह अपना समय अब पार्टी के लिए समर्पित कैडर खड़ा करने व उन्हें प्रशिक्षित करने में लगाना चाहते हैं. (इनपुट एजेंसी)