कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा शहर में हाथियों के दल के हमले में एक युवक घायल हो गया. शहर में जंगली हाथी घुसने के बाद कुछ हिस्से में धारा 144 लागू की गई है. कोरबा जिले के अधिकारियों ने बताया कि चार हाथियों का दल कोरबा शहर में स्थित हेलीपेड के करीब नर्सरी में मौजूद है. हाथियों के दल ने राताखार निवासी दिलीप विश्वकर्मा को घायल कर दिया है. हाथियों के उत्पात को देखते हुए शहर के हेलीपेड और आस-पास के क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी गई है. यह आदेश हाथियों के वापस चले जाने तक प्रभावी रहेगा. अधिकारियों ने बताया कि चार हाथियों का दल आज एसईसीएल कोरबा के आवासीय परिसर सुभाष ब्लॉक के समीप आ गया. दल हेलीपेड के नजदीक नर्सरी में मौजूद है.

उन्होंने बताया कि शहर में हाथियों के घुसने की जानकारी मिलने के बाद लोग वहां एकत्र हो गए. जब लोगों को वहां जाने से मना किया जा रहा था तब युवक दिलीप विश्वकर्मा हाथियों के करीब पहुंच गया. जब दिलीप वहां पहुंचा तब हाथियों ने उसे उठा कर पटक दिया. इस घटना में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. घटना की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल पहुंच गए तथा घायल युवक को अस्पताल पहुंचाया गया. वन विभाग और पुलिस ने हाथियों के समीप जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया है. अधिकारियों ने बताया कि नर्सरी के समीप कुष्ठ आश्रम को खाली कराया गया है तथा वहां निवासरत 35 परिवारों को सुरक्षा की दृष्टि से सामुदायिक भवन में भेजा गया है.

कोरबा जिले के कलेक्टर मोहम्मद कैसर अब्दुल हक ने बताया कि शहर में हाथियों के दल के पहुंचने और इस घटना में एक युवक के घायल होने के बाद आस-पास क्षेत्र में धारा 144 लगाई गई है. यह आदेश हाथियों के वापस चले जाने तक प्रभावी रहेगा. हक ने बताया कि आम नागरिकों से अपील की गई है कि वह नर्सरी वाले इलाके में मौजूद हाथियों के दल के करीब न जाएं और हाथियों से छेड़खानी न करें. हाथियों से किसी प्रकार का नुकसान न हो इसके लिए सतर्कता बरती जा रही है. उन्होंने बताया कि हाथियों को सुरक्षित जंगल की ओर भेजने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है.