रायपुर: छत्तीसगढ़ सरकार आगामी बजट को ‘जनता का बजट’ बनाने की कवायद कर रही है. आगामी बजट कैसा हो, जनता बजट में क्या चाहती है, इसके लिए जनता के सुझाव मंगाए जा रहे है. राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वयं जनता से राय मांगी है. छत्तीसढ़ को अस्तित्व में आए 17 साल हो चुके हैं और डेढ़ दशक बाद सत्ता में आई कांग्रेस की वर्तमान सरकार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जनता की सरकार बनाने और बताने में लगे हैं और जब भी कोई मौका मिलता है तो उसे वे हाथ से जाने नहीं देते. इसी क्रम में अब वे आगामी बजट को जनता का बजट बनाना चाह रहे हैं, यही कारण है कि उन्होंने प्रदेशवासियों से इसके लिए सुझाव मांगे है.

मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट कर लोगों से बजट के लिए सुझाव मांगते हुए लिखा, “हम चाहते हैं कि आपकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिये बनाए जाने वाले बजट में आपकी भागीदारी हो. कृपया अपने सुझाव देकर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें.”मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेशवासियों के नाम एक संदेश भी जारी किया है. इसमें उन्होंने सरकार और बजट तो जनता का बताया ही है साथ में उसमें भागीदारी का भी आवाह्न किया है. उन्होंने भाजपा का नाम लिए बगैर पिछली सरकार पर हमला बोला और कहा, “विरासत में मिली समस्याओं और सीमित संसाधनों के बावजूद बीते एक साल में छत्तीसगढ़ ने जन-जन के विकास और खुशहाली का रास्ता बनाया. ‘जन विकास’ और ‘जन विश्वास’ से हमने ‘गढ़वो नवा छत्तीसगढ़’ का अभियान शुरु किया, जिसे आप लोगों का भरपूर समर्थन और सक्रिय सहयोग मिला. अब हम नए वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए राज्य का नया बजट बनाने जा रहे है.”

प्रदेश की जनता से बजट के लिए सुझाव देने का आह्वान करते हुए बघेल ने कहा, “जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए जरुरी है कि उसमें जनता की हिस्सेदारी हो. इसलिए नए साल के सबसे बड़े वित्तीय प्रबंधन और नियोजन की प्रक्रिया का हिस्सा बनें.” छत्तीसगढ़ के गठन के बाद संभवत: यह पहला मौका है जब सरकार ने बजट के लिए खुले तौर पर आमजन से राय मांगी हो. ये सुझाव मुख्यमंत्री बघेल को वॉटसएप नंबर 7440412604 और मेल आईडी ‘bhagidari2020@gmail.com’ पर दिए जा सकते है. राज्य का वर्ष 2018-19 का आम बजट 95 हजार करोड़ रुपये का था, इस बार आम बजट के एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का होने की संभावना है.