Admission MBBS In CIMS: कोरोना ने लोगों की जिंदगी को बदलकर रख दिया है. इसकी एक बानगी देखने को मिली सिम्स में शिक्षा सत्र 2020—21 की एमबीबीएस प्रथम वर्ष की 180 सीट में प्रवेश की प्रक्रिया में. एडमिशन के पहले चरण में आल इंडिया कोटे की 27 सीट में प्रवेश दिया जा रहा है, लेकिन कोरोना की वजह से दूसरे प्रदेश के छात्र नहीं पहुंच रहे हैं. ऐसे में आल इंडिया कोटे के तहत पहले चरण के काउंसीलिंग में मात्र एक सीट में ही प्रवेश हुआ है. Also Read - Delhi COVID-19 Cases Update: दिल्‍ली में कोरोना के 4,906 नए,Total Death toll 9000 के पार

सिम्स में इस बार एमबीबीएस की 180 सीट में प्रवेश होना है.इसमे 148 सीट स्टेट कोटा के लिए, पांच सीट भारत सरकार के लिए रिजर्व है. वहीं 27 सीटें आल इंडिया कोटे की है. प्रवेश प्रक्रिया में सबसे पहले आल इंडिया कोटे पर प्रवेश देने का निर्णय लिया गया है. इसके तहत बीते सोमवार का पहला काउंसिलिंग खत्म हुई है, लेकिन इस काउंसिलिंग पर कोरोना का प्रकोप नजर आया है. क्योंकि आल इंडिया कोटे की सीट में प्रवेश के लिए दूसरे प्रदेश के छात्र- छात्राओं को आना रहता है, लेकिन कोरोना काल होने की वजह से कोई भी जोखिम नहीं लेना चाह रहा है. Also Read - Corona India Latest Update: 24 घंटे में करीब 500 लोगों की कोरोना से मौत, 94 लाख के पास पहुंची संक्रमितों की संख्या

ऐसे में पहले चरण का काउंसीलिंग की शुरूआत बेहद की फीकी रही और सिर्फ एक का एडमिशन सुनिश्चित हुआ है. वहीं अब इसके लिए दूसरे चरण के काउंसीलिंग की प्रक्रिया शुरू की गई है. सिम्स प्रबंधन का भी कहना है कि आल इंडिया कोटे की सीट भरने में समय लगेगा. इसके लिए नियमानुसार काउंसिलिंग की प्रक्रिया चलाई जाएगी. Also Read - India Vs Australia 2nd ODI (HIGHLIGHTS): दूसरे वनडे में जीत हासिल कर ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 से सीरीज पर कब्जा किया