रायपुर: छत्तीसगढ़ में 40 नए लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुयी है. राज्य में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण का यह पहला मामला है जब बड़ी संख्या में लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 172 में लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है. इनमें से 62 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, जिससे प्रदेश में 110 सक्रिय मरीज हैं. Also Read - भारतीय क्रिकेटरों के लिए अभ्यास कैंप आयोजित करने पर काम कर रही है BCCI लेकिन समय सीमा अनिश्चित

अधिकारियों ने बताया कि आज राज्य के कोरबा जिले में 12 लोगों में, बलौदाबाजार जिले में छह लोगों में, कबीरधाम जिले में पांच लोगों में, बालोद और कांकेर जिले में चार चार लोगों में, गरियाबंद जिले में तीन लोगों में तथा राजनांदगांव जिले में दो लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई. उन्होंने बताया कि राज्य के जांजगीर चांपा जिले , बिलासपुर, बेमेतरा और बलरामपुर जिले में एक एक व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई. Also Read - Coronavirus Update: इस देश के प्रधानमंत्री में नहीं थे लक्षण, टेस्ट कराया तो निकले पॉजिटिव, मचा हड़कंप

अधिकारियों ने बताया कि राज्य में यह पहली बार है जब एक ही दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 40 नए मामले सामने आए हैं. उन्होंने बताया कि जिन लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि की गई है उनमें से ज्यादातर लोग प्रवासी मजदूर हैं तथा वह अन्य राज्यों से यहां आए हैं. इन मजदूरों को पृथकवास केंद्र में रखा गया था. Also Read - Coronavirus In World Update: दुनिया में 61 लाख संक्रमित, 3.71 लाख से अधिक मौतें

अधिकारियों ने बताया कि 110 सक्रिय मरीजों में से 24 लोगों का इलाज रायपुर स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में किया जा रहा है. वहीं माना स्थित कोविड अस्पताल में 25 लोगों को, बिलासपुर के कोविड अस्पताल में 21 लोगों को, राजनांदगांव के मेडिकल कालेज अस्पताल में नौ लोगों को तथा रायगढ़ और अंबिकापुर के मेडिकल कालेज अस्पताल में पांच पांच लोगों को भर्ती कराया गया है. वहीं अन्य मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया जा रहा है. उन्होंने बताया कि आज दोपहर बाद बिलासपुर के कोविड अस्पताल से एक महिला समेत तीन लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई. सभी मरीज जांजगीर चांपा जिले से थे. अधिकारियों ने बताया कि राज्य में अभी तक इसी बीमारी से किसी भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं हुई है. राज्य में शुक्रवार तक 48116 लोगों के नमूनों की जांच की गई है.