रायपुर: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर माइन प्रोटेक्टेड व्हीकल को उड़ा दिया. इस घटना में सीआरपीएफ के चार जवान शहीद हो गए और दो अन्य घायल हैं. एंटी नक्‍सल ऑपरेशन के डीआईजी पी. सुंदर राज ने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स की 168वीं बटालियन के जवानों में एक एएसआई, एक हेड कॉन्‍स्‍टेबल और दो जवानों की जान एक आईईडी ब्‍लास्‍ट में चली गई और दो घायल हो गए. ये विस्‍फोट बीजापुर के अवापल्‍ली पुलिस स्‍टेशन इलाके में हुआ है. घायल दोनों जवानों को मेडिकल ट्रीटमेंट में भेजा गया है.Also Read - CRPF जवानों की ड्यूटी पर गई जान तो परिवारवालों को अब मिलेगी 35 लाख की अनुग्रह राशि, केंद्र ने दी मंजूरी

Also Read - Maoists called bandh in 4 States: माओवादियों का चार राज्यों में 3 दिन का बंद आज से, झारखंड में सुरक्षा व्यवस्था चौकस

बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि बीजापुर जिले के आवापल्ली थाना क्षेत्र के अंतर्गत मुरडंडा गांव में स्थित सीआरपीएफ की 168वीं बटालियन के शिविर के करीब नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर माइन प्रोटेक्टेड व्हीकल को उड़ा दिया है. इस घटना में सीआरपीएफ के चार जवान शहीद हो गए हैं और दो घायल हो गए. Also Read - Petrol Diesel Price Cut: छत्तीसगढ़ में भी पेट्रोल-डीजल हुआ सस्ता, जानें CM भूपेश बघेल ने VAT में की कितनी कटौती

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सीआरपीएफ के जवानों को गश्त के लिए रवाना किया गया था. छह जवान वाहन में सवार थे. जब वह शिविर से लगभग एक किलोमीटर की दूरी पर थे तब नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर दिया.

अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र में पुलिस दल रवाना किया गया और शवों तथा घायल जवानों को बाहर निकालने की कार्रवाई शुरू की गई. घायलों को अस्पताल भेजा गया है.

छत्तीसगढ़ में विधानसभा के चुनाव में 12 नवंबर को प्रथम चरण के लिए मतदान होगा. राज्य के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र और राजनांदगांव जिले के 18 सीटों के लिए मत डाले जाएंगे. मुख्यमंत्री रमन सिंह अभी बस्तर दौरे पर ही हैं. सिंह ने शनिवार को सुकमा जिले के दोरनापाल, दंतेवाड़ा जिले के गीदम और बस्तर जिले के बागमोहलई गांव में सभा की.

राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में शांतिपूर्वक मतदान के लिए जहां बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों के जवानों को तैनात किया जा रहा है वहीं नक्सलियों ने चुनाव का बहिष्कार करने की घोषणा की है.