रायपुर: अब तक आपने शाही परिवार के शाही शादियों के बारे में खूब सुना है, पर हम आपको बताने जा रहे हैं एक किसान पुत्र की शाही शादी के बारे. ये शादी होने वाली है छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के अंतर्गत आने वाले घोरपुरा गांव में, जहां दूल्हा अंकुश सिंह अपने दादा के सपने को पूरा करने 22 जनवरी को हेलीकॉप्टर से अपनी दुल्हन लेने जाएंगे. Also Read - Unique Bridal Entry: अगर होने वाली है शादी तो अपनी ब्राइडल एंट्री को बनाएं खास, इन आईडियाज का लें सहारा

Also Read - Unlock-5: इस बड़े राज्य में 15 से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, शादी ब्याह भी होंगे, लेकिन ये होंगी शर्तें....

अंकुश ने इसके लिए बाकायदा जिला प्रशासन से हेलीकॉप्टर के उड़ान भरने और उतरने की अनुमति मांगी थी, जो उसे 18 जनवरी को ही मिल गई. अंकुश सिंह पिता महेंद्र प्रताप सिंह की शादी सतना (मप्र) निवासी अरुण सिंह की सुपुत्री अदर्शिता सिंह के साथ 22 जनवरी को होने वाली है. उनकी विवाह की रस्में 20 जनवरी मंडपाच्छादन के साथ ही शुरू हो गई. बहरहाल, किसान पुत्र के इस अनोखी शादी की छत्तीसगढ़ सहित शहडोल (मप्र) में भी चर्चा हो रही है. Also Read - Bigg Boss 14: अब खुलकर सामने आएगी रुबीना और अभिनव की केमेस्ट्री, शादी के बाद ही होने लगे थे झगड़े

अब धर्मेंद्र की आंखों से दुनिया देखेगी चांदनी, लिए फेरे, मां-बाप, तीन छोटी बहनें भी हैं नेत्रहीन

अंकुश सिंह ने बताया कि वे अपने दादा धर्मराज सिंह के सपने को पूरा करने ऐसा कर रहे हैं. वे किसान के बेटे हैं. उनके दादाजी मालगुजार धर्मराज सिंह का यह सपना है कि उसका पोता अंकुश सिंह हेलीकॉप्टर से बारात जाए और हेलीकॉप्टर से ही दुल्हन लेकर आए.

दादाजी के इसी सपने को पूरा करने अंकुश सिंह ने हेलीकॉप्टर से बारात ले जाने का फैसला किया है. वे बताते हैं कि उसने हैदराबाद से डेक्कन कंपनी का हेलीकॉप्टर किराए पर लिया है और हेलीकॉप्टर के लिए बाकायदा जिला प्रशासन मुंगेली से परमिशन ली थी, जो उन्हें मिल गई है. ये हेलीकॉप्टर 8 सीटर है. अंकुश ने बताया कि उनकी बारात 22 जनवरी को दोपहर 3 बजे मुंगेली स्थित स्टेडियम से उड़ान भरेगी और 23 जनवरी को सुबह 11 बजे शहडोल से उड़ान भरेगी.