रायपुर: छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में अलग-अलग घटनाओं में नक्सलियों ने दो ग्रामीणों की पुलिस का मुखबिर होने के शक के चलते निर्मम हत्या कर दी. एक मृतक महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित जिले गढ़चिरौली का रहने वाला था जबकि दूसरा  रेंगवाही गांव  का निवासी था. नक्सलियों ने इनका अपहरण इनके गांव से किया था. कांकेर के बांदे इलाके के जंगल से ग्रामीणों को मृतकों के शव मिले. Also Read - Aaj Ka Panchang 24 October 2020: आज शुक्ल पक्ष अष्टमी पर देखें पंचांग, शुभ-अशुभ समय, राहुकाल

Also Read - धोनी ने शुरू की अगले IPL की तैयारी, बोले- अगले साल को ध्यान में रखकर बाकी 3 मैचों में युवाओं को मौका देंगे

गौरतलब है कि रविवार को ही छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गए थे, जबकि एक अन्य घायल हो गया था. एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि मृतकों की पहचान चंद्रू कावड़े (40) और मिलन हालदार (19) के रूप में की गई है. पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित इलाके गढ़चिरौली के निवासी कावड़े का रविवार को उनके गांव से नक्सलियों ने अपहरण कर लिया था. Also Read - आज के समय में भारत के लिए क्यों जरूरी है 'क्वाड'? विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बताए इसके मायने

छत्तीसगढ़ के कांकेर में नक्सलियों के हमले में 2 बीएसएफ जवान शहीद

उन्होंने बताया कि कांकेर के बांदे क्षेत्र में जंगल से ग्रामीणों ने कावड़े का शव  सोमवार की सुबह पाया. ग्रामीणों से मिली सूचना के बाद पुलिस टीम को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया. पुलिस टीम ने शव को बरामद पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. उन्होंने बताया कि छोटे बेतिया पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले  रेंगवाही गांव के हालदार की नक्सलियों ने हत्या कर दी. ग्रामीणों के क मुताबिक नक्सलियों काआरोप था कि हालदार पुलिस के लिए मुखबिरी करता था. नक्सलियों के एक समूह ने 14 जुलाई की रात रेंगवाही गांव पर धावा बोल दिया था और हालदार सहित दो ग्रामीणों का अपहरण कर लिया था. फिलहाल मामले की तफ्तीश जारी है. (इनपुट एजेंसी )