रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के खिलाफ चल रहे राजनीतिक मामलों को वापस लेगी. बघेल ने आज यहां एनएसयूआई के कार्यक्रम के दौरान संवाददताओं से बातचीत में कहा कि राज्य सरकार छात्र संगठनों और राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के उपर चल रहे राजनीतिक मामलों को वापस लेगी. मुख्यमंत्री ने कहा​ कि एनएसयूआई के छात्रों ने अपनी मांगों को लेकर आंदोलन किया है. उनके खिलाफ बहुत से फर्जी मामले भी दायर किए गए हैं.इन सब मामलों को वापस लिया जाएगा.

बघेल ने कहा कि राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भाजपा में अपने विरोधियों के खिलाफ भी अपराध दर्ज कराए हैं. उनको भी गुण दोष के आधार पर वापस लिया जाएगा. उन्होंने कार्यक्रम के दौरान तंज किया कि छत्तीसगढ़ का नवाज शरीफ खुले में घूम रहा है. बघेल ने कहा कि राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भाजपा में अपने विरोधियों के खिलाफ भी अपराध दर्ज कराए हैं. उनको भी गुण दोष के आधार पर वापस लिया जाएगा. उन्होंने कार्यक्रम के दौरान तंज किया कि छत्तीसगढ़ का नवाज शरीफ खुले में घूम रहा है. बघेल ने कहा कि राजनांदगांव जिले में एनएसयूआई के कार्यक्रम के दौरान नारा लगा था कि छत्तीसगढ़ का नवाज शरीफ कौन. लेकिन छत्तीसगढ़ का नवाज शरीफ खुले में घूम रहा है. हमने थोड़ी सी फाइल की धूल क्या हटाई तो चिल्लाहट मच गई है. अभी बहुत सारी फाइलें खुलेंगी. क्योंकि उन फाइलों में सारा षड्यंत्र छुपा हुआ है. छत्तीसगढ़ 15 साल पीछे हुआ है.

बाद में मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि पनामा पेपर लीक में जिनका नाम आया है. जिस पनामा पेपर ​लीक मामले के कारण पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ जेल गए उसी पनामा पेपर लीक में छत्तीसगढ़ के भी कुछ लोगों का नाम है. पूर्व मुख्यमंत्री के घर के पते पर वो खाता खोला गया है, उसकी जांच तो होगी. छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार के दौरान कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि पनामा पेपर मामले में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के सांसद पुत्र अभिषेक सिंह का नाम है तथा उनका विदेश में खाता है. हांलकि अभिषेक सिंह ने इस आरोप को बेबुनियाद और राजनीति से प्रेरित बताया था. बघेल ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी इस महीने की 28 तारीख को छत्तीसगढ़ आ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता ने कांग्रेस को तीन चौथाई बहुमत दी है. किसानों ने खूब आशीर्वाद दिया है. अन्नदाताओं का आभार व्यक्त करने के लिए तथा किसानों का सम्मान व्यक्त करने के लिए 28 तारीख को बड़ी रैली का आयोजन किया जा रहा है. वहां ऋण मुक्ति का प्रमाण पत्र वितरित किया जाएगा. इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे.