रायपुर: छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित सेक्स सीडी कांड में कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष भूपेश बघेल सोमवार को रायपुुुर की सीबीआई की एक विशेष अदालत में पेश हुए. इसके बाद कोर्ट ने उन्हें 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. दरअसल, इस मामले में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बघेन ने न तो अपनी ओर से वकील रखा और न ही जमानत की अर्जी पेश की. उन्हें इस संबंध में रविवार शाम समन जारी किया गया था. वहीं, कांग्रेस ने कल यानि मंगलवार से सड़कों पर उतरकार आंदोलन करने का ऐलान कर दिया है. Also Read - Fodder Scam Case: सीबीआई की विशेष अदालत में लालू यादव ने दर्ज करवाया बयान

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल अंबेडकर चौक से पैदल अदालत पहुंचे. इस दौरान उनके साथ कई कांग्रेस पदाधिकारी भी मौजूद रहे. बघेल सीबीआई के विशेष न्यायाधीश सुमित कपूर की अदालत में पेश हुए. सीडी कांड में बघेल की गिरफ्तारी के समय सीडी कांड में आरोपी पत्रकार विनोद वर्मा भी अदालत में मौजूद थे.

बता दें कि 27 अक्टूबर, 2017 को एक सेक्स टेप वायरल हुआ था, जिसमें छत्तीसगढ़ के एक मंत्री राजेश मूणत का नाम सामने आया था. बाद में इस मामले में दिल्ली से पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी हुई थी. इस मामले में बीजेपी ने कांग्रेस नेताओं पर सेक्स सीडी बांटने का आरोप लगाया था. सीडी कांड में आरोपी विनोद वर्मा के साथ ही भूपेश बघेल के खिलाफ रायपुर में प्राथमिकी दर्ज हुई थी. ये रिपोर्ट छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत ने दर्ज कराई थी.

मामले को तूल पकड़ता देख राज्य सरकार ने यह मामला सीबीआई को सौंप दिया. सीबीआई ने मामले में भाजपा और कांग्रेस नेताओं से पूछताछ की. इस बीच सेक्स सीडी कांड से जुड़े रिंकू खनूजा नामक व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. रिंकू खनूजा की मौत के बाद इस मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ा. अब करीब एक साल बाद बघेल को सीबीआई अदालत ने समन भेजा.