नई दिल्ली: बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने गुरुवार को बड़ा कदम उठाते हुए हाल ही में हिंदी हार्टलैंड के तीन राज्यों में सत्ता गंवाने वाले तीनों मुख्यमंत्रियों को पार्टी के संगठन में नई जिम्मेदारी दी है. भाजपा ने एमपी के पूर्व सीएम शिवराजसिंह चौहान, छत्तीसगढ़ के सीएम डॉ. रमन सिंह और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पार्टी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है. पूर्व में एमपी के सीएम और छत्तीसगढ़ के सीएम को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि ये नेता राज्यों में ही रहकर प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालना चाहते हैं. Also Read - Hyderabad Nikay Chunav 2020: रुझानों में बड़ी जीत की ओर भाजपा, टीआरएस और AIMIM को भारी नुकसान

बता दें कि एमपी की सत्ता में गंवाने के बाद चौहान ने तो सीधे ही कह दिया था कि वे मध्य प्रदेश में ही रहकर जनता की सेवा करेंगे. वे दिल्ली नहीं जाना चाहते हैं. बीजेपी ने इन दिग्गज नेताओं की नई भूमिका दिल्ली में शुक्रवार से शुरू होने जा रही पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की दो दिवसीय बैठक से ठीक एक दिन पहले की है.

बीजेपी ने आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी इन बड़े नेताओं को संगठन में जिम्मेदारी दी है. बता दें कि भाजपा मिशन 2019 की शुरुआत 11-12 जनवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक से करेगी, जहां देशभर के पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जीत का मंत्र देंगे. हाल में संपन्न विधानसभा चुनावों में हिंदी पट्टी के तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में पार्टी को मिली हार के बाद केंद्र की सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार ने सामान्य वर्ग को गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण देकर पार्टी की ओर नाराज माने जा रहे सवर्ण मतदाताओं के बीच अपनी मजबूत पकड़ बनाने के लिए बड़ा कदम उठाया गया है.