नई दिल्ली: नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने कहा कि देश के दक्षिणी और पश्चिमी राज्य तेजी से प्रगति कर रहे हैं लेकिन बिहार, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों के कारण देश पिछड़ा बना हुआ है. सीईओ कांत ने कहा, ”बिहार , उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ , मध्य प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों के कारण भारत पिछड़ा बना हुआ है और खासकर सामाजिक संकेतकों पर. जहां व्यापार में आसानी के मामले में हमने तेजी से सुधार किया है, वहीं, मानव विकास सूचकांक में हम अब भी पिछड़े हैं. मानव विकास सूचकांक में हम अब भी 188 देशों में 133 वें पायदान पर हैं.”

नीति आयोग के सीईओ ने कहा, मानव विकास सूचकांक में बेहतर करने के लिए हमें सामाजिक संकेतकों पर गौर करना होगा. हम आकांक्षा जिला कार्यक्रम के जरिए इन चीजों पर काम कर रहे हैं.

बता दें, कि पिछड़े हुए यूपी, राजस्थान, एमपी, छत्तीसगढ़ में बीजेपी की राज्य सरकारें हैं. एमपी और छत्तीसगढ़ में बीजेपी की पिछले 14 सालों से सरकारें हैं, जबकि राजस्थान में चार और यूपी में तीन साल से हैं.

जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में प्रथम अब्दुल गफ्फार खान स्मारक व्याख्यान के दौरान सोमवार को ‘चैलेंजेज ऑफ ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया’ के मुद्दे पर कांत ने कहा कि देश के दक्षिणी और पश्चिमी राज्य बहुत अच्छा कर रहे हैं और तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. वहीं बिहार में पार्टी गठबंधन में हैं. नीतीश कुमार के साथ बीजेपी पहले भी गठबंधन में शामिल थी.

नीति आयोग के सीईओ के बयान के आधार पर देखा जाए तो बीजेपी की राज्य सरकारों के सामने मानव सूचकांक के मद्देनजर बहुत काम करने की जरूरत है. (इनपुट- एजेंसी)