रायपुर: छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए रायपुर और बिरगांव नगर निगम सीमा क्षेत्रों में लॉकडाउन कर दिया गया है. राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि रायपुर और बिरगांव नगर निगम क्षेत्रों में बुधवार सुबह से लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. इस दौरान सभी दुकानें, सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय तथा सार्वजनिक परिवहन सेवा को बंद कर दिया गया है. Also Read - स्कूली बच्चों के हक में हाईकोर्ट का फैसला, Lockdown में सिर्फ ट्यूशन Fees ले सकेंगे प्राइवेट स्कूल

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान लोग सुबह छह बजे से 10 बजे के दौरान सब्जी, दूध, फल, अंडे, मांस आदि की खरीदारी कर सकते हैं. अधिकारियों ने बताया कि रायपुर जिले में बीते मंगलवार तक कोरोना वायरस संक्रमण के 1314 मामले दर्ज किए गए हैं. इनमें से लगभग 1100 मामले पिछले एक माह के दौरान दर्ज किए गए हैं. Also Read - Covid-19 in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में कोविड-19 के 277 नए मामले, राजधानी रायपुर का सबसे बुरा हाल

उन्होंने बताया कि रायपुर जिला प्रशासन ने रायपुर नगर निगम और बिरगांव नगर निगम क्षेत्र को निषिद्ध क्षेत्र घोषित किया है. इस सात दिनों के दौरान दोनों निगम क्षेत्रों में पूरी तरह लॉकडाउन कर संक्रमण की कड़ी को तोड़ने का प्रयास किया जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान नगरीय क्षेत्रों में सभी शासकीय, अर्ध शासकीय और निजी कार्यालय बंद रहेंगे. सभी कार्यालयों के अधिकारी और कर्मचारी घर से कार्य करेंगे. Also Read - नक्‍सलियों ने की अचानक फायरिंग, शिविर की सुरक्षा में तैनात सशस्त्र बल का जवान शहीद

उन्होंने बताया कि इसी तरह सभी सार्वजनिक परिवहन इस दौरान बंद रहेंगे. केवल चिकित्सकीय सेवा वाले व्यक्तियों को वाहन के आवागमन की अनुमति रहेगी. वहीं रात में आवश्यक वाणिज्यिक परिवहन की अनुमति इस प्रतिबंधित क्षेत्र में होगी. अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले फैक्ट्री, निर्माण और श्रम कार्य संचालित करने वाली इकाईयों को शर्तों के अधीन छूट रहेगी. क्षेत्र में सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे.

इससे पहले रायपुर जिले के कलेक्टर एस भारती दासन ने मंगलवार शाम को लोगों से अपील की कि वह लॉकडाउन का पालन करें तथा सड़कों पर वाहन लेकर न निकलें. अधिकारियों ने बताया कि नगर निगम क्षेत्रों में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है तथा लोगों को घर से बाहन निकलने से मना किया जा रहा है. इसके साथ ही राज्य के चार जिलों के 20 अन्य नगरीय क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन किया जा रहा है.

अधिकारियों ने बताया कि सरगुजा जिले के जिला मुख्यालय अंबिकापुर नगर निगम क्षेत्र में 22 जुलाई मध्यरात्रि से 29 जुलाई मध्यरात्रि तक निषिद्ध क्षेत्र घोषित किया गया है. इस अवधि में दुर्ग जिले के 10 नगरीय क्षेत्रों में प्रतिबंध लागू रहेगा. उन्होंने बताया कि कोरबा नगर निगम और जिले के चार नगरीय क्षेत्रों में 22 जुलाई से 28 जुलाई के मध्यरात्रि के दौरान लॉकडाउन रहेगा.
उन्होंने बताया कि बेमेतरा जिले में मंगलवार से लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. वहीं बलौदाबाजार जिले के नौ नगरीय क्षेत्रों में मंगलवार मध्यरात्रि से 28 जुलाई की मध्यरात्रि तक प्रतिबंध जारी रहेगा.

अधिकारियों ने बताया कि बिलासपुर जिले के बिलासपुर नगर निगम तथा बिल्हा और बोदरी नगर पंचायत क्षेत्रों में 23 जुलाई की सुबह से 31 जुलाई की शाम तक तथा राजनांदगांव जिले में राजनांदगांव नगर निगम क्षेत्र में 23 जुलाई मध्यरात्रि से 29 जुलाई मध्यरात्रि तक प्रतिबंध जारी रहेगा. उन्होंने बताया कि इसके अलावा जांजगीर चांपा जिले के 14 नगर निगम क्षेत्रों में 24 जुलाई से 30 जुलाई के मध्य प्रतिबंध जारी रखने की घोषणा की गई है. राज्य के मुंगेली जिले में भी बुधवार से 28 जुलाई की मध्यरात्रि तक लॉकडाउन रहेगा.

छत्तीसगढ़ में मंगलवार तक 5731 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि की गई है. इनमें से 1588 लोगों का इलाज किया जा रहा है. वहीं 4114 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है. राज्य में इस वायरस से संक्रमित 29 लोगों की मृत्यु हुई है. राज्य में इनमें से तीन हजार से अधिक मामले पिछले एक महीने के दौरान सामने आए हैं. राज्य के सभी 28 जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले आए हैं.