बिलासपुर: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में महिलाओं के एक उज्‍जवला आश्रय स्थल के प्रबंधक को वहां की एक महिला से दुष्कर्म करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. यह कार्रवाई तब हुई है, जब एक महिला ने आरोप लगाया कि आश्रय स्थल के कर्मचारियों ने उसे शारीरिक प्रताड़ना और रेप किया है.Also Read - मुंबई में युवती से गैंगरेप, 4 नाबालिगों ने घटना को दिया अंजाम, 3 हिरासत में लिए गए

बिलासपुर के पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि तीन महिलाओं के बयान को एक मजिस्ट्रेट के समाने दर्ज करवाया गया. इनमें से एक महिला ने आश्रय स्थल के प्रबंधक जितेंद्र मौर्य पर दुष्कर्म का आरोप लगाया. Also Read - Marital Rape: सहमति के बिना पत्नी से यौन संबंध बनाना रेप है या नहीं, इस पर हाईकोर्ट में हो रही चर्चा

Also Read - Jharkhand News: लोहरदगा में आदिवासी नाबालिग लड़की से गैंगरेप के मामले में तीन गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि एक महिला ने आरोप लगाया कि आश्रय स्थल के कर्मचारियों ने उसे शारीरिक प्रताड़ना दी. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बयानों के आधार पर मौर्य को गिरफ्तार कर लिया गया और इस मामले में आगे जांच की जा रही है.

बिलासपुर के एक शेल्टर होम में 3 महिलाओं के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है. उमेश कश्यप, एडिशनल एसपी, बिलासपुर, “कुछ महिलाओं की तरफ से उज्ज्वला शेल्टर होम में महिलाओं को प्रताड़ित करने पर FIR दर्ज़ कराई गई. पीड़ितों के बयान के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.”