2008 में लाहौर में हुए आतंकी हमले के दस साल बाद श्रीलंका क्रिकेट टीम के पाकिस्तान दौरे पर जाने से इस देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी की उम्मीद काफी बढ़ गई है। हालांकि शुरुआत में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड चाह रहा था कि टेस्ट सीरीज का आयोजन पाकिस्तान से बाहर किया जाय लेकिन अब वो दिसंबर में दो टेस्ट मैच खेलने के लिए पाकिस्तान जाने को तैयार हो गए हैं। लेकिन बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ऐसा नहीं करना चाहता।

खबर है कि बीसीबी ने बांग्लादेश के आगामी पाकिस्तान दौरे को लेकर पीसीबी से मांग की है टी20 सीरीज का आयोजन पाकिस्तान में और टेस्ट का आयोजन किसी न्यूट्रल वेन्यू पर हो जो कि यूएई हो सकता है। बता दें कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पहले ही अगले साल जनवरी-फरवरी में होने वाले दौरे का शेड्यूल बीसीबी को भेज दिया है।

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट के नए डॉयरेक्टर बन सकते हैं पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ

इस मामले पर बीसीसी के क्रिकेट ऑपरेशन्स प्रमुख अकरम खान ने कहा, “हम शायद पाकिस्तान से टी20 और टेस्ट सीरीज को अलग अलग करने के लिए कह सकते हैं। हम पहले कौन सी सीरीज खेलेंगे ये सुरक्षा रिपोर्ट पर निर्भर करेगा। अगर हमें किसी कारणवश हरी झंडी नहीं मिलती तो हमें उनसे किसी न्यूट्रल वेन्यू पर सीरीज कराने को लेकर बात करनी होगी लेकिन अगर इजाजत मिल जाती है तो फिर बात अलग होगी।”

श्रीलंका टीम के 12 दिसंबर से दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने पाकिस्तान जाने की बात पर खान ने कहा, “सरकार का एनओसी हमारे लिए श्रीलंका से ज्यादा मायने रखता है। एनओसी मिलने के बाद ही हम दौरे के बारे में सोच सकते हैं। हम सरकार की सलाह का इंतजार कर रहे हैं। स्वाभाविक है कि हम खिलाड़ियों के साथ बैठकर उनकी राय भी लेंगे।”