इंग्लैंड क्रिकेट टीम के प्रमुख ऑलराउंडर खिलाड़ी बेन स्टोक्स एक फैन को अपशब्द कहने के बाद आईसीसी की तरफ से अनुशासनात्मक कार्यवाई झेल सकते हैं। दरअसल स्टोक्स ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन आउट होकर पवेलियन की ओर जाते समय एक दर्शक को गाली दी।

वांडरर्स स्टेडियम में खेले जा रहे मैच के पहले दिन दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्टजे ने स्टोक्स को आउट किया। जिसके बाद वो ड्रेसिंग रूम की तरफ जाने लगे लेकिन पवेलियन के रास्ते में किसी दर्शक ने स्टोक्स से कुछ कहा और जवाब में इस इंग्लिश खिलाड़ी ने उस फैन को भद्दी गालियां दी। कई रिपोर्ट्स के मुताबिक वो दर्शक एक बच्चा था लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

ऑकलैंड में बना इतिहास, पहली बार 5 बल्‍लेबाजों ने एक टी20 मैच में जड़े अर्धशतक

दिन का खेल खत्म होने के बाद मीडिया के सामने आए स्टोक्स ने अपनी गलती मानी और माफी भी मांगी। उन्होंने कहा, “मैं आज अपने डिसमिसल के बाद लाइव ब्रॉडकास्ट पर सुनाई दी अपनी भाषा के लिए माफी मांगना चाहता हूं। मुझे इस तरह की प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए थी।”

स्टोक्स ने बताया, “जब मैं मैदान छोड़कर जा रहा था तो भीड़ की ओर से मुझे अपशब्द कहे गए। मैं मानता हूं कि मैंने जैसी प्रतिक्रिया दी वो गैर-पेशेवर थी और मैं अपनी भाषा के लिए दिल से माफी मांगता हूं, खासकर कि दुनियाभर में उस मैच को लाइव देख रहे युवा फैंस से।”

उन्होंने कहा, “पूरी टेस्ट सीरीज के दौरान दोनों देशों के फैंस के अच्छा समर्थन मिला है। एक धटना की वजह से इस प्रतिद्वंदी सीरीज को खराब नहीं करना चाहिए, जिसे जीतने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।”

 श्रेयस अय्यर और केएल राहुल के अर्धशतकों से जीता भारत, सीरीज में 1-0 से आगे

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब स्टोक्स पर अपशब्दों का प्रयोग करना का आरोप लगा है। सितंबर 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज के दौरान इस इंग्लिश खिलाड़ी पर ब्रिस्टल में एक पब के बाहर लड़ाई-झगड़ा करने का आरोप लगा था। हालांकि मामला मैदान से बाहर का था इस वजह से इसे लोकल कोर्ट में सुलझाया गया। लेकिन इस बार स्टोक्स आईसीसी के रडार में आए हैं।

आईसीसी स्टोक्स पर खिलाड़ियों के कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 2.3 को तोड़ने का आरोप लगा सकती है। जिसके मुताबिक “अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान श्रव्य अश्लीलता का उपयोग” करना गलत है। जिसके तहत स्टोक्स को एक डीमेरिट अंक मिल सकता है। साथ ही उन पर आर्टिकल 3.3 को तोड़ने का आरोप भी लग सकता है, जिसके मुताबिक
“किसी खिलाड़ी, टीम के अधिकारी या दर्शक पर हमले की धमकी” देना आता है। इस आरोप के लगने से स्टोक्स को पांच या छह डीमेरिट अंक दिए जा सकते हैं, नतीजतन उन पर एक-दो मैचों का बैन लग सकता है।