क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने पाकिस्‍तान की क्रिकेट में फैले मैच फिक्सिंग के जाल पर खुलकर अपनी बात रखी. उन्‍होंने कहा कि नेशनल टीम में खेलने की मजबूरी में उन खिलाड़ियों के साथ खेले थे जो गलत काम कर रहे थे.

मोहम्‍मद हफीज ने टीम में अपने साथी रहे शोएब अख्तर के यू-ट्यूब चैनल पर यह बात कही. उन्‍होंने कहा, “मैं आवाज उठाना चाहता था लेकिन पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने की चाहत में कुछ बोल नहीं पाया.

पढ़ें:- युवराज बोले- क्रिकेट की दुनिया में यह नया फॉर्मेट टी20 की तरह क्रांति लाने वाला होगा

“वो खिलाड़ी मेरे भाइयों की तरह हैं क्योंकि मैं उनके लिए दुआ भी करता था लेकिन उन्होंने जो किया मैं उसके खिलाफ था.”

मोहम्‍मद हफीज ने कहा, “मैंने आवाज उठाई, लेकिन मुझसे कहा गया कि वह पाकिस्तान के लिए खेलेंगे और अगर तुम्हे भी खेलना है तो फैसला कर लो कि क्या करना है. मैं इससे सदमें में था. मैं घर गया और मैंने सलाह ली क्योंकि मैं पाकिस्तान के लिए अपनी सकारात्मक ऊर्जा जाया नहीं करना चाहता था. वह लोग गलत थे इसके बाद भी मैं उनके साथ खेलता रहा.”

पढ़ें:- करारी हार पर बांग्‍लादेशी कोच का बड़ा बयानकहा- हमें एक ऐसा गेंदबाज चाहिए जो

ऑलराउंडर ने कहा, “मैं अभी भी कहूंगा कि यह गलत फैसला था और पाकिस्तान  के लिए कभी भी सही नहीं होगा. इस तरह के खिलाड़ियों को वापस लाना पाकिस्तान के लिए अच्छा नहीं होगा.”