भारत को बांग्‍लादेश के (India vs Bangladesh) खिलाफ गुरुवार से अपना पहला डे-नाइट टेस्‍ट (Day Night Test) मैच खेलना है. मैच से एक दिन पहले विराट कोहली (Virat Kohli) ने जिस वजह से ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान वहां डे-नाइट टेस्‍ट मैच खेलने से इनकार किया वही मुद्दा आज बांग्‍लादेश की टीम के कप्‍तान मोमिनुल (Mominul Haque) हक ने उठाया.Also Read - IND vs ENG: डरहम की मुख्य पिच पर टीम इंडिया ने की प्रैक्टिस, Rishabh Pant ने भी चलाया बल्ला

Also Read - शोएब अख्तर ने बताया, 'विराट कोहली से आगे निकलने' के लिए क्या करें बाबर आजम

पिंक गेंद से होने वाला यह मैच भारत और बांग्‍लोश दोनों का ही पहला डे-नाइट टेस्‍ट मैच होगा. पिछले साल के दिसंबर महीने से भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर टेस्‍ट सीरीज की शुरुआत की थी. क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया द्वारा बार-बार एडिलेड में डे-नाइट खेलने का अनुरोध बीसीसीआई से करने के बावजूद ऐसा करने से इनकार कर दिया गया. Also Read - India tour of England: अभ्यास मैच में चोटिल हुए भारतीय खिलाड़ी; स्क्वाड में केवल 22 फिट क्रिकेटर मौजूद

पढ़ें:- Day Night Test: इस गेंदबाज को लंबे समय बाद मिल सकता है टीम इंडिया में मौका

विराट कोहली ने अपने पहले डे-नाइट टेस्‍ट से एक दिन पहले कहा कि अगर ऑस्‍ट्रेलिया अगले साल भारत के दौरे के दौरान टेस्‍ट सीरीज से पहले प्रैक्टिस मैच मुहैया कराता है तो उन्‍हें वहां डे-नाइट मैच खेलने में कोई आपत्ति नहीं है.

मोमिनुल ने मैच की पूर्वसंध्या पर गुरुवार को कहा, “हम चाहेंगे कि दिन-रात टेस्ट मैच से पहले एक अभ्यास मैच हो. इस मैच से पहले हमारा कोई प्रैक्टिस मैच नहीं था. अब हम इस पर ज्यादा नहीं सोच सकते. हमें उस पर ध्यान देना होगा जो हमारे पास है.”

भारतीय तेज बैट्री से खतरा

भारतीय तिकड़ी मोहम्मद शमी, उमेश यादव और ईशांत शर्मा को विश्वस्तरीय गेंदबाज बताते हुए बांग्लादेशी कप्तान ने कहा कि ये तीनों गेंदबाज रोशनी में और ज्यादा घातक होंगे.

पढ़ें:- पैट कमिंस की ‘नो बॉल’ पर आउट हुआ पाकिस्तानी बल्लेबाज; तीसरे अंपायर पर भड़के दिग्गज

उन्होंने कहा, “भारत के पास विश्व स्तरीय गेंदबाज है. रोशनी में खेलना, यह और ज्यादा चुनौतीपूर्ण होने वाली है. लेकिन हम इसे सकारात्मक रूप से ले रहे हैं. मुझे लगता है कि ना केवल बांग्लादेश के लिए बल्कि किसी भी टीम के लिए यह चुनौतीपूर्ण होगी।”

यह पूछे जाने पर कि ट्विलाइट पीरियड के होने से यह अधिक चुनौतीपूर्ण होगा, कप्तान ने कहा, “ट्विलाइट को लेकर ज्यादा चर्चा नहीं हुई है. हमने रोशनी में अभ्यास किया है. इसलिए मुझे नहीं लगता है कि यह एक समस्या होना चाहिए.”