India vs Australia- एडिलेड की हार की बाद Ajinkya Rahane ने टीम को खूबसूरती से संभाला: रिकी पॉन्टिंग
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Trophy) में कप्तानी की अतिरिक्त भूमिका निभा रहे अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने अपनी कप्तानी और अपने खेल से सभी को प्रभावित किया है. रहाणे ने मेलबर्न टेस्ट मैच के दूसरे दिन शानदार शतक जड़कर भारत को इस मैच में मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया है. इस शानदार पारी के बाद ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) ने भी रहाणे की तारीफ की है. पॉन्टिंग ने कहा के एडिलेड में शर्मनाक हार के बाद रहाणे ने टीम को खूबसूरती से संभाला है. Also Read - ब्रिसबेन टेस्‍ट में रोहित शर्मा लंगड़ाकर चलते हुए आए नजर, भारत के लिए बजी खतरे की घंटी

बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच (Boxing Day Test) के पहले रहाणे ने शानदार कप्तानी का उदाहरण पेश करते हुए ऑस्ट्रेलिया टीम को उसकी पहली पारी में मात्र 195 रन पर समाप्त कर दी. रहाणे दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 104 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे. भारत का स्कोर अब 5 विकेट के नुकसान पर 277 रन है और वह मेजबान टीम पर 82 रनों की बढ़त ले चुका है. Also Read - बारिश से प्रभावित मुकाबले में भारत ने बनाए 62/2, ऑस्‍ट्रेलिया के पास 307 रन की बढ़त

रिकी पॉन्टिंग ने क्रिकेट.कॉम.एयू से कहा, ‘एडिलेड (पहले टेस्ट) की निराशा के बाद उन्होंने टीम को फिर से संभालने के मामले में बेहतरीन काम किया है. उन्होंने शनिवार को फील्डिंग के समय टीम का शानदार नेतृत्व किया और फिर आप देख सकते हैं कि वह एक जिम्मेदार कप्तान की तरह खेल (बल्लेबाजी) रहे हैं.’ Also Read - 'तुम इस तरह विकेट गिफ्ट करके नहीं जा सकते...' Rohit Sharma के आउट होने पर भड़के सुनील गावस्‍कर

उन्होंने कहा, ‘वह कप्तानी पारी खेलना चाहते हैं. वह नियमित कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की गैरमौजूदगी में शतक लगाकर अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते हैं, जिससे उनका देश सीरीज में वापसी कर सके.’

रहाणे ने अपनी पारी के दौरान 12 आकर्षक चौके लगाए लेकिन पॉन्टिंग ने उनकी रक्षात्मक खेल की तारीफ की. ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘उन्होंने (चेतेश्वर) पुजारा की तरह की पारी खेली. वह कोई जोखिम नहीं लेना चाहते थे. उन्होंने कम बाउंड्री लगाई और अपने रक्षात्मक खेल पर भरोसा कर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के मनोबल को कम किया.’

रहाणे ने अपने कप्तानी कौशल से प्रभावित किया लेकिन पॉन्टिंग का मानना है कि पितृत्व अवकाश से लौटने के बाद कोहली फिर से टीम की बागडोर संभालेंगे. उन्होंने कहा, ‘कोहली जब तक चाहे तब तक टीम की कप्तानी करेंगे, लेकिन अगर उन्होंने बेहतर खिलाड़ी (बल्लेबाजी पर ध्यान देने के लिए) बनने के लिए इसे छोड़ने का फैसला किया तो यह विश्व क्रिकेट (गेंदबाजों) के लिए काफी डरावना होगा.’

46 वर्षीय पॉन्टिंग ने कहा, ‘मैं कोहली की कप्तानी कौशल पर सवाल नहीं कर रहा हूं. लेकिन यह कहने की कोशिश कर रहा हूं कि इस तरह से टीम को संभालने के लिए आप में कुछ खास होना चाहिए जैसा की रहाणे ने अब तक किया है.’

इनपुट: भाषा