भारत और बांग्लादेश के बीच ईडन गार्डन्स में हो रहे पहले डे-नाइट टेस्ट के लिए जब सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid), वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman), हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) और अनिल कुंबले (Anil Kumble) जैसे दिग्गज क्रिकेटर साथ आए तो भारतीय क्रिकेट से जुड़ी कई पुरानी यादें ताजा हुईं। इन्हीं में से एक है ईडन गार्डन्स में साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला गया वो ऐतिहासिक टेस्ट मैच जहां लक्ष्मण और द्रविड़ ने मिलकर भारत को हारा हुआ मैच जिताया था।

सचिन ने पुरानी यादों को ताजा करते हुए कहा है कि जब द्रविड़ और लक्ष्मण उस मैच में जब बल्लेबाजी कर रहे थे तब ड्रेसिंग रूम में कोई हिला तक नहीं था। सचिन ने बताया कि उन्होंने तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली और कोच जॉन राइट के साथ मिलकर ये फैसला किया कि लक्ष्मण तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे और द्रविड़ छठे नंबर पर।

सचिन ने कहा, “वो अच्छी लय में थे। ये दोनों जब बल्लेबाजी कर रहे थे तब ड्रेसिंग रूम में कोई भी नहीं हिला था। अचानक हमें उम्मीद जागी की अगर भज्जी और जहीर खान अच्छी गेंदबाजी कर सकते हैं तो हम जीत सकते हैं।”

राहुल द्रविड़ ने पहले Day-Night टेस्ट मैच पर कही ये बात

लक्ष्मण ने उस मैच में 452 रनों पर 281 रनों की पारी खेली थी। वहीं द्रविड़ ने 353 गेंदों पर 180 रन बनाए थे। इन दोनों के दम पर भारत ने अपनी पारी सात विकेट के नुकसान पर 657 रनों पर घोषित कर दी थी। हरभजन भी उस मैच का हिस्सा थे, जहां वो भारत के लिए टेस्ट में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज बने थे। जिसके दम पर भारत ने इस मैच में ऑस्ट्रेलिया को 171 रनों से हराया था।