शुरुआती टेस्ट स्क्वाड में जगह ना मिलने के बाद जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) के चोटिल होने की वजह से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुने गए उमेश यादव (Umesh Yadav) ने अपने हालिया प्रदर्शन और 2.0 वर्जन से सभी को प्रभावित किया। टेस्ट टीम में शानदार वापसी के बाद उमेश अब सीमित ओवर फॉर्मेट में कमबैक करना चाहते हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में उमेश ने वनडे-टी20 क्रिकेट में वापसी की इच्छा जताई। इस तेज गेंदबाज से जब रेड बॉल स्पेशलिस्ट टैग के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “सीमित ओवर फॉर्मेट का सीजन बस अभी शुरू हुआ है। आप भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, कुलदीप यादव को टीम में वापसी करते देख सकते हैं। अगर मैं भी अच्छा प्रदर्शन करता रहा तो मैं भी सीमित ओवर फॉर्मेट में वापसी कर सकता हूं।”

बता दें कि उमेश ने आखिरी वनडे मैच में 24 अक्टूबर, 2018 को वेस्टइंडीज के खिलाफ विशाखापत्तनम में खेला था। वहीं टी20 अंतरराष्ट्रीय में उमेश आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वाइजैग टी20 में नजर आए थे। जिसके बाद से ही वो सीमित ओवर फॉर्मेट टीम से बाहर हैं। हालांकि आगामी टी20 विश्व कप से पहले उमेश ने सीमित ओवर फॉर्मेट में वापसी की उम्मीद नहीं छोड़ी है।

विराट कोहली ने रात में ‘हॉटी’ अनुष्का शर्मा के साथ देखी मूवी, फोटो वायरल

भारतीय तेज गेंदबाज से जब पूछा गया कि लाल और सफेद गेंद से गेंदबाजी करने में क्या अंतर है और किस तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इस पर उन्होंने कहा, “काफी अंतर है। टेस्ट में, बल्लेबाज अपना समय लेते हैं और फिर आपको उन्हें आउट करने का तरीका ढूंढना होता है। लेकिन लाल गेंद पूरा दिन कुछ ना कुछ हरकत करती है, इसलिए रन बनाना उतना आसान नहीं होता। सफेद गेंद तीन-चार ओवर के बाद कुछ खास नहीं करती। इसलिए आपको नई गेंद के साथ ही विकेट के लिए जाना होता है। सीमित ओवर फॉर्मेट में बल्लेबाज हमेशा ही आक्रामक होते हैं। गेंदबाजों को इसका फायदा उठाना होता है।”