Covid19 in Delhi राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोविड-19 के 124 नए मामले सामने आए हैं, जो कि 16 फरवरी से बाद से अब तक सबसे कम हैं. वहीं संक्रमण से सात और लोगों की मौत हो गई. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों से रविवार को यह जानकारी मिली. आंकड़ों के अनुसार यहां संक्रमण दर अब 0.17 फीसदी है. लगातार दूसरे दिन संक्रमण की वजह से मरने वालों की संख्या 10 से कम है.Also Read - Delhi Lockdown Update:...तो दिल्ली में फिर लग जाएगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिये संकेत

शनिवार को दिल्ली में सात लोगों की मौत हुई थी, जो कि एक अप्रैल से अब तक सबसे कम है. वहीं 135 नए मामले सामने आए थे और संक्रमण दर 0.18 प्रतिशत थी. राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण की वजह से अब तक 24,914 लोगों की मौत हो चुकी है. एक अप्रैल को शहर में नौ लोगों की मौत हुई थी और 2,790 मामले सामने आए थे. Also Read - Yoga For Back Pain: 5 योग मुद्राएं जो आपको पीठ दर्द से छुटकारा दिला सकती हैं | Watch Video

बुधवार को कोविड-19 के 212 नए मामले सामने आए थे और 25 लोगों की मौत हो गई थी तथा संक्रमण दर 0.27 प्रतिशत दर्ज किया गया था. इससे पहले 158 नए मामले सामने आए थे और संक्रमण दर 0.20 प्रतिशत दर्ज किया गया था और 10 लोगों की मौत हो गई थी. Also Read - Free ration to card holders: एक दिन में 80 लाख लोगों को फ्री राशन देकर रचा जाएगा कीर्तिमान

शुक्रवार को संक्रमण के 165 नए मामले सामने आए थे और संक्रमण दर 0.22 प्रतिशत थी. वहीं मृतकों की संख्या 14 थी. शहर में मृत्यु दर में उल्लेखनीय स्तर पर कमी आ रही है. आधिकारिक आँकड़ों के अनुसार 14 जून को शहर में 131 मामले सामने आए थे और 16 लोगों की मौत हो गई थी.

अप्रैल के अंतिम सप्ताह में संक्रमण दर 36 प्रतिशत था, जो कि अब घटकर 0.20 प्रतिशत से नीचे हो गया है. पिछले कई दिनों से संक्रमण के मामलों में कमी आने के बावजूद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगाह किया है कि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर का खतरा वास्तविक है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार इस लहर से निपटने के लिए ‘युद्ध स्तर’ पर तैयारी कर रही है.

दिल्ली में संक्रमण की दूसरी लहर ने काफी विषम परिस्थितियां पैदा कर दी थीं और इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई और कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी ने मरीज़ों की तकलीफ़ों को और भी बढ़ा दिया था.

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को दिल्ली सरकार द्वारा बनाए गए योग एवं मेडिटेशन ट्रेनिंग सेंटर का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि 2 अक्टूबर के बाद योगा करने वाले लोगों को दिल्ली सरकार मुफ्त में योगा इंस्ट्रक्टर उपलब्ध कराएगी. अभी हमारे पास 450 योगा इंस्ट्रक्टर हैं.

इस दौरान अरविंद केजरीवाल ने ‘मेडिटेशन और योग विज्ञान’ में एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स शुरू किया, जिसमें लगभग 450 उम्मीदवारों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है.

(इनपुट भाषा)