दिल्‍ली में ट्रैक्‍टर रैली के हिंसक प्रदर्शन पर अब तक 15 FIR दर्ज, 83 पुलिसकर्मी हुए थे घायल, अब और सुरक्षा बढ़ाई

Delhi LATEST UPDATE: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के मामले में अभी और एफआईआर दर्ज होने के आसार हैं

Published: January 27, 2021 8:01 AM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

दिल्‍ली में ट्रैक्‍टर रैली के हिंसक प्रदर्शन पर अब तक 15 FIR दर्ज, 83 पुलिसकर्मी हुए थे घायल, अब और सुरक्षा बढ़ाई
up block pramukh elections

Delhi, farmers protest, Delhi police, security, FIR, RED FORT: देश की राजधानी में कल मंगलवार को किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के दौरान हिंसक प्रदर्शनों के दौरान 83 पुलिसकर्मी घायल हो गए. इसके चलते दिल्‍ली में सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी गई है. दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के मामले में अभी तक 1  प्राथमिकी दर्ज की. अभी और एफआईआर दर्ज होने के आसार हैं. कल ही दिल्‍ली पुलिस के अधिकारियों ने कहा था कि हिंसा करने वालों को कानून के दायरे में लाया जाएगा और एक्‍शन लिया जाएगा.

Also Read:

हालात के मद्देनजर दिल्ली में त्वरित कार्रवाई बल के कर्मियों को भी तैनात किया गया है और उत्पन्न वर्तमान स्थिति के मद्देनजर निगरानी कड़ी कर दी गई है. दिल्ली की सिंघू सीमा पर सुरक्षा बढ़ाई गई. सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं. बता दें  सिंघु बॉर्डर पर किसान विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं.

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, कल किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के संबंध में 15 FIR दर्ज़ की गई हैं. अब तक 5 FIR ईस्टर्न रेंज में दर्ज़ की गईं हैं.

देश की राष्‍ट्रीय राजधानी के लाल किले में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने कल किले के पोल पर चढ़कर अपना झंडा फहराया था.

वहीं, आज बुधवार को लाल किला मेट्रो स्टेशन का प्रवेश द्वार बंद हैं. इस स्टेशन से बाहर निकलने की अनुमति है. अन्य सभी स्टेशन खुले हैं. सभी लाइनों पर सामान्य सेवाएं चल रही हैं. यह जानकारी दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने दी है.

दिल्ली पुलिस ने कहा, मुकरबा चौक, गाजीपुर, ए-पॉइंट आईटीओ, सीमापुरी, नांगलोई टी-पॉइंट, टिकरी बॉर्डर और लाल किले से अधिकांश घटनाएं सामने आईं. उपद्रवी भीड़ द्वारा की गई बर्बरता के इस कृत्य में 86 पुलिसकर्मियों के घायल होने और कई सार्वजनिक और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचा है.


बता दें कि दिन में, तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसानों ने पुलिस के अवरोधकों को तोड़ दिया और पुलिस के साथ झड़प की, वाहनों में तोड़ फोड़ की और लाल किले पर धार्मिक झंडे फहरा दिए.

किसानों की ट्रैक्टर परेड के मामले में दिल्ली पुलिस ने सात प्राथमिकी दर्ज की
दिल्‍ली पुलिस के अधिकारी ने बताया, ” पूर्वी जिले में तीन प्राथमिकी दर्ज की गई है. द्वारका में तीन तथा शाहदरा जिले में एक मामला दर्ज किया गया है.” उन्होंने बताया कि और प्राथमिकी दर्ज होने के आसार हैं.

हिंसा में पुलिस के 86 जवान घायल
दिल्‍ली पुलिस ने बयान जारी कर बताया कि इस हिंसा में पुलिस के 86 जवान घायल हो गए हैं. हिंसा स्थल पर एक प्रदर्शनकारी का ट्रैक्टर पलट गया, जिससे उसकी मौत हो गई.

ट्रैक्टर परेड के संबंध में दिल्ली पुलिस की कई दौर की बैठक हुई थी
बयान में कहा गया है कि संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया गया था. प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड के संबंध में मोर्चा के साथ दिल्ली पुलिस की कई दौर की बैठक हुई थी.

निहंगों की अगुवाई में किसानों ने पुलिस पर हमला किया
बयान के अनुसार मंगलवार को सुबह करीब 8:30 बजे छह हजार से सात हजार ट्रैक्टर सिंघू सीमा पर एकत्र हुए. पहले से निर्धारित रास्तों पर जाने के बदले उन्होंने मध्य दिल्ली की ओर जाने पर जोर दिया. बार बार आग्रह के बावजूद निहंगों की अगुवाई में किसानों ने पुलिस पर हमला किया और पुलिस के अवरोधकों को तोड़ दिया. गाजीपुर एवं टीकरी सीमा से भी इसी तरह की घटना की खबरें हैं.

पुलिसकर्मियों को कुचलने का प्रयास किया
इसमें कहा गया है कि आइटीओ पर गाजीपुर एवं सिंघू सीमा से आए किसानों के एक बड़े समूह ने लुटियन जोन की तरफ जाने का प्रयास किया, जब पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोका तो किसानों का एक वर्ग हिंसक हो गया. उन्होंने अवरोधक तोड़ दिए और वहां मौजूद पुलिसकर्मियों को कुचलने का प्रयास किया. पुलिस भीड़ को हटाने में कामयाब रही.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें दिल्ली की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 27, 2021 8:01 AM IST