mukhyamantri tirth yatra yojana दिल्ली सरकार अगले साल पांच जनवरी को शहर के वरिष्ठ नागरिकों के एक समूह को पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब की मुफ्त तीर्थयात्रा पर भेजेगी. शुक्रवार को यह जानकारी एक आधिकारिक बयान में दी गई. बयान में कहा गया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आदेश के बाद करतारपुर साहिब और तमिलनाडु में वेलंकन्नी चर्च को ‘मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना’ में शामिल किया गया है. इसमें कहा गया है कि करतारपुर साहिब के लिए तीर्थयात्रियों का पहला जत्था पांच जनवरी, 2022 को दिल्ली से एक डीलक्स बस से रवाना होगा और वेलंकन्नी चर्च के लिए पहली ट्रेन अगले साल सात जनवरी को रवाना होगी.Also Read - दिल्‍ली में फिलहाल नहीं खुलेंगे स्‍कूल और कॉलेज, ऑनलाइन जारी रहेंगी कक्षाएं

इस बीच, दिल्ली के राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत ने शुक्रवार को एक उच्चस्तरीय बैठक में योजना के तहत तीर्थयात्रा की तैयारियों की समीक्षा की. बयान में कहा गया, “दिल्ली सरकार ने अपनी मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत मौजूदा 13 यात्रा मार्गों के अलावा दो और मार्गों- दिल्ली-वेलंकन्नी-दिल्ली तथा दिल्ली-करतारपुर साहिब-दिल्ली को शामिल करने का फैसला किया है.” इसमें कहा गया कि श्रद्धालु दिल्ली-वेलंकन्नी-दिल्ली मार्ग पर ट्रेन से एसी-तृतीय श्रेणी में यात्रा करेंगे जबकि करतारपुर साहिब के लिए उन्हें वातानुकूलित बसों में सीट दी जाएगी. Also Read - Delhi में कोव‍िड प्रत‍िबंधों में छूट, मॉल, सिनेमा, रेस्‍टोरेंट्स 50 फीसदी की क्षमता से संचाल‍ित होंगे

बयान में कहा गया है कि जिन 15,000 आवेदकों ने 2019 में योजना के तहत यात्रा के लिए आवेदन किया था, लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण सुविधा का लाभ नहीं उठा सके, उन्हें एसएमएस प्राप्त होगा, जिसमें उन्हें दिल्ली-अयोध्या-दिल्ली मार्ग संबंधी अपने आवेदन में संशोधन के विकल्प के बारे में सूचित किया जाएगा. Also Read - Shahdara Case: दिल्ली में महिला से कथित गैंगरेप मामले में 4 हिरासत में, DCW का पुलिस को नोटिस

मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत दिल्ली के वरिष्ठ नागरिक सरकार के खर्च पर तीर्थयात्रा कर सकते हैं. महामारी के प्रकोप के कारण 2020 और 2021 में यह यात्रा नहीं हो सकी. बयान में कहा गया कि औपचारिक शुरुआत के बाद से 35,080 लाभार्थियों ने योजना के तहत यात्रा की है.

(इनपुट भाषा)