Vaccination, ration distribution will continue in schools दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के स्कूलों में स्थापित टीकाकरण और राशन वितरण केंद्र एक सितंबर से नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू होने के बाद भी चालू रहेंगे. महानगर में कोविड-19 की स्थिति में सुधार के बाद, दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि नौवीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान एक सितंबर से फिर से खुलेंगे.Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में 39 नए केस, आज भी नहीं गई किसी की जान; एक्टिव मरीजों की संख्या फिर 400

इस विषय पर एक सवाल के जवाब में केजरीवाल ने कहा, “स्कूलों में कई कक्षाएं हैं और जगह की कोई कमी नहीं है. जिन स्कूलों में टीकाकरण और राशन वितरण चल रहा है वहां यह जारी रहेगा.” उन्होंने यहां एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, “चूंकि पहले चरण में केवल चार कक्षाओं के छात्रों को बुलाया जा रहा है, इसलिए जगह कोई बड़ी समस्या नहीं होगी. टीकाकरण क्षेत्र को छात्रों की कक्षाओं से अलग रखा जाएगा.” महामारी की संभावित तीसरी लहर की चिंताओं के बारे में पूछे जाने पर, मुख्यमंत्री ने कहा, “आज दिल्ली में कोविड की स्थिति नियंत्रण में है. पहले, माता-पिता भी अनिच्छुक थे, लेकिन अब माता-पिता भी चाहते हैं कि उनके बच्चे स्कूल जाएं और कक्षा में पढ़ाई करें.” Also Read - इस देश में स्कूली बच्चों को कोविड का टीका लगाना शुरू, क्या भारत में भी मिलेगी मंजूरी

उन्होंने कहा, “हम धीरे-धीरे स्कूलों को फिर से खोलेंगे. अगर उन्हें फिर से बंद करने की जरूरत पड़ी, तो हम देखेंगे.” स्कूलों को फिर से खोलने के सरकार के फैसले के बाद, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दोहराया कि किसी भी छात्र को कक्षाओं में प्रत्यक्ष भाग लेने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा. Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में 20 नए केस, एक्टिव मरीजों की संख्या 400 से कम

उन्होंने कहा, “हम जल्द ही स्कूल फिर से खोलने के लिए विस्तृत एसओपी और दिशानिर्देश जारी करेंगे. किसी भी छात्र को ऑफलाइन या प्रत्यक्ष कक्षाओं में भाग लेने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा, उनके पास ऑनलाइन कक्षाओं को जारी रखने का विकल्प होगा.” अधिकांश स्कूलों ने फिर से खोलने के निर्णय का स्वागत किया है, हालांकि अभिभावकों के बीच अभी कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को लेकर थोड़ी चिंता है.

(इनपुट भाषा)